DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्वविद्यालय ने भी बनाई जांच कमेटी

एक-एक कर विश्वविद्यालय के तीन पर्चे आउट हो जाने के मामले में कुलपति प्रो.पी.सी.त्रिवेदी ने एक आंतरिक कमेटी बना दी है। कमेटी के अध्यक्ष और सदस्यों के नाम तय कर लिए गए हैं, उन्हें मामले की तह तक पहुँचने का मिशन सौंप दिया गया है लेकिन फिलहाल उनके नामों की औपचारिक घोषणा नहीं की गई है। कमेटी में कुल 7 से 8 सदस्य हैं।

इनमें विश्वविद्यालय के दो संकायाध्यक्ष, गुआक्टा के एक पदाधिकारी, डिप्टी रजिस्ट्रार, बस्ती के एक महाविद्यालय के प्राचार्य, छात्र अधिष्ठाता कल्याण के एक पदाधिकारी और परीक्षा समिति के कुछ सदस्य शामिल हैं। कमेटी, पर्चा आउट मामले में विश्वविद्यालय से परीक्षा केन्द्रों तक बिखरी कड़ियों की पड़ताल करेगी।

पर्चा आउट मामले से विश्वविद्यालय की साख पर बड़ा धब्बा लगा है। इससे बीए फस्र्ट इयर अंग्रेजी प्रथम प्रश्न पत्र, बीए थर्ड इयर समाजशास्त्र द्वितीय प्रश्न पत्र और बीकॉम सेकेण्ड इयर का ग्रुप ‘ए’ ‘कास्ट एकाउटिंग एण्ड आडिटिंग’ का पेपर दे चुके करीब 59 हजार छात्र सीधे तौर पर प्रभावित हुए जिन्हें अब इन प्रश्नपत्रों की परीक्षा दोबारा देनी होगी।

पर्चा आउट मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन का शक पहले परीक्षा केन्द्रों पर गया था लेकिन परीक्षा व्यवस्था में कमियों के एक से बढ़कर एक उदाहरण मिलने के बाद प्रशासन अपनी आंतरिक व्यवस्था को लेकर भी सर्तक हुआ है। हॉल में कुलपति ने ईडीपी सेल की निगरानी का जिम्मा विधि संकायाध्यक्ष प्रो.अरविन्द मिश्र को और स्ट्रांग रूम की व्यवस्था डिप्टी रजिस्ट्रार वी.एन.सिंह को सौंपने और परीक्षा केन्द्रों तक पर्चे लेकर जाने वाली गाड़ियों के ड्राइवर बदलने जैसे कुछ कदम उठाए थे।

लीकेज के छेद भरने के लिए ही विवि प्रशासन ने दो से पांच अप्रैल तक की परीक्षाएं स्थगित कर दी थीं। निरस्त की गई और टाल दी गई परीक्षाओं की नई तिथि फिलहाल नहीं आई है लेकिन सात अप्रैल से पुरानी समयसारिणी के मुताबिक दोबारा परीक्षाएं शुरु होंगी। परीक्षा नियंत्रक प्रो.एन.एन.त्रिपाठी ने गुरुवार को कहा कि इस बार पूरी तैयारी की गई है। उम्मीद है किसी किस्म की कोई गड़बड़ी नहीं होने पाएगी।

फिलहाल इतना ही कह सकता हूं कि इस मामले की हर कड़ी जोड़कर सचाई का पता लगाया जाएगा। कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा।
प्रो.पी.सी.त्रिवेदी, कुलपति, दीदउ गोरखपुर विश्वविद्यालय

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विश्वविद्यालय ने भी बनाई जांच कमेटी