DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हत्या की सुपारी देने पहुंचे पिता-पुत्र गिरफ्तार

सेण्ट पॉल स्कूल के प्रबंधक व प्रिंसिपल अजीत एंसन की हत्या की सुपारी देने के मामले में पुलिस ने ओमनारायण वर्मा और उनके पुत्र गौरव वर्मा को गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से भाड़े के हत्यारों को देने के लिए 47 हजार रुपए पेशगी, बाइक और दो तमंचे भी पुलिस ने बरामद किए हैं। एक अण्डेवाले के जरिए सुपारी देनी थी, लेकिन उसने पुलिस को सूचना दे दी।

एएसपी अजय साहनी के मुताबिक कर्नलगंज इंस्पेक्टर फरमूद अली पुण्डीर और दरोगा मनोज कुमार पंत की टीम ने अशोक नगर निवासी ओमनारायण वर्मा और बेटे गौरव को ब्रजेन्द्र स्वरूप पार्क के पीछे वाले गेट के पास पकड़ा। पूछताछ में पता चला कि दोनों अजीत एंसन की हत्या की योजना को अंजाम देने आए थे। जहां दोनों पकड़े गए उसी रास्ते से अजीत एंसन अपने घर आर्य नगर आते-जाते हैं।

अजीत एंसन से इस बारे में पुलिस ने पूछा तो उन्होंने बताया कि गौरव वर्मा दो-तीन दिनों से उनके आने-जाने के वक्त स्कूल और घर के आसपास टहलता देखा गया था। इंस्पेक्टर कर्नलगंज ने बताया कि पिता-पुत्र तीसरे व्यक्ति का इंतजार कर रहे थे। उसे पैसा देने के बाद स्कूल प्रबंधक की हत्या की जाती। लेन-देन से पहले ही पुलिस को जानकारी मिली गई। इंस्पेक्टर ने बताया कि गौरव वर्मा एक बार बजरिया से जेल जा चुका है। स्कूल प्रबंधक अजीत एंसन ने कहा कि स्कूल की करीब दो करोड़ की प्रॉपर्टी पर कब्जे के लिए उनकी हत्या की साजिश रची गई। 

क्या है विवाद
ओमनारायण का कहना है कि जिस बिल्डिंग में सेण्ट पॉल स्कूल है, वह उनके पिता कुंजीलाल की है। अजीत एंसन किराएदार हैं, मकान खाली कराने का मुकदमा चल रहा है। साजिश करके फंसाया गया है। उधर, स्कूल प्रबंधक अजीत एंसन ने कहा, स्कूल भवन उन्होंने 2009 में खरीद लिया था।

ओमनारायण ने किराएदार अशोक मेहरा से दो कमरे का फ्लैट ले लिया, जबकि कोर्ट ने साफ कहा था कि अशोक जब भी मकान खाली करेंगे तो उन्हें चाबी सौंपेंगे। मकान के इसी हिस्से में तोड़फोड़ करके ओमनारायण नया निर्माण करा रहे थे। निर्माण रोकने के लिए स्टे ले रखा था। पूरी प्रॉपर्टी पर कब्जा करने के लिए उन्हें रास्ते से हटाने की योजना थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हत्या की सुपारी देने पहुंचे पिता-पुत्र गिरफ्तार