DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वातावरण में गूंजा ‘अहिंसा परमों धर्म:’ का संदेश

जैन धर्म के 24वें र्तीथकर महावीर स्वामी की जन्म जयंती पर रथयात्रा निकाली गई। गुरुवार को चांदी के रथ पर भगवान महावीर की निकाली गई भव्य रथयात्रा में हजारों लोगों ने ‘अहिंसा परमो धर्म:’ का नारा बुलंद किये थे। रास्ते भर महिलाएं नृत्य करतीं और भजन गा रही थीं। खास यह कि जैन दिगम्बर और श्वेताम्बर समाज की ओर से निकली शोभायात्रा साथ-साथ चल रही थी।

दिगम्बर समाज काशी के संयोजन में मैदागिन स्थित बिहारी लाल दिगम्बर जैन मंदिर से सुबह शोभायात्रा निकाली गयी। जो विभिन्न मार्गो से होती पंचायती मंदिर पहुंचकर समाप्त हुई। रथयात्रा में राजस्थानी भजन मंडली और महिलाएं भजन प्रस्तुत करती चल रही थी। सोराकुंआ में महिलाओं ने ‘धन-धन चैत की तेरस रामा भये महावीरा’ की प्रस्तुति की।

रथयात्रा में रजत हाथी, चंवरगाड़ी, धूपगाड़ी, कलश गाड़ी, झण्डी गाड़ी, रजत नालकी आकर्षण का केन्द्र थी। जब रथ ग्वालदास साहू लेन स्थित दिगम्बर मंदिर पहुंचा तो भक्तो ने जन्मोत्सव की खुशी में ‘मेरी आली आज बधाई गाइयां, घर घर नारी मंगल गाये नौबत शहनाइयां, तुम्हारे दरश बिन स्वामी मुङो चैन नहीं पड़ती’ आदि बधाई गीत गाया। शहनाई की मंगल ध्वनि के बीच घण्टा, घड़ियाल, ढोल मजीरे के साथ पाण्डुल शिला पर 108 रजत कलशों से पंचाभिषेक और विशेष पूजन किया गया।

वहीं जैन श्वेताम्बर समाज की ओर से बुलानाला स्थित जैन भवन से नालकी शोभायात्रा निकाली गई, जो ठठेरी बाजार, चौक, चौखम्बा होते रामघाट स्थित पंचायती बड़ा मंदिर पहुंची। यहां अष्ट प्रकारी पूजा, आरती की गयी। उधर नरिया स्थित दिगम्बर जैन मंदिर में भगवान महावीर की विशाल प्रतिमा का पूजन अर्चन किया गया।

महिलाओं ने किया डांडिया
शोभायात्रा के दौरान पद्मावति जैन महिला मंडल की सदस्याओं ने डांडिया, समूह नृत्य पेश किया। ‘केसरिया केसरिया आज हमारे मन केसरिया’ की बोल पर महिलाओं ने सामूहिक नृत्य प्रस्तुत किया। इनमे श्रुति जैन, शोभा जैन, नूरी जैन, नेहा जैन, दिव्या जैन, अंशुल जैन, रिंकी जैन, रीता जैन, जूली जैन आदि थी।

रथयात्रा का स्वागत
सामाजिक संस्था अग्रवाल समाज, संकल्प, जैन युवा संगठन, महिला संगठनों की ओर से शोभायात्रा का रास्तेभर पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। इस दौरान भगवान महावीर की आरती भी उतारी गई। मौके पर अनिल कुमार जैन, सिद्धार्थ जैन, राजेश जैन, आलोक जैन, डॉ. अश्विनी जैन, रमेश जैन आदि थे।

झूलनोत्सव की धूम
ग्वालदास साहू लेन स्थित पंचायती मंदिर में झूलनोत्सव पर भजन संध्या आयोजित हुई। राजस्थान की भजन मण्डली ‘मुल्कराज ग्रुप’ और बनारस के विजय सिंह ग्रुप के साथ स्थानीय कलाकारों और समाज की महिलाओं, पुरुषों ने भगवान की आराधना करते हुए भजन प्रस्तुत किया। इस दौरान सामूहिक नृत्य, डांडिया, आरती नृत्य, समेत प्रश्नोत्तरी, प्रतियोगिता हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वातावरण में गूंजा ‘अहिंसा परमों धर्म:’ का संदेश