DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुठभेड़ में छह नक्सली ढेर, एक जवान शहीद

लातेहार जिले में पुलिस और सीआरपीएफ की टीम ने भीषण मुठभेड़ में छह नक्सलियों को मार गिराने का दावा किया है, जबकि एक जवान शहीद हो गया। पलामू जोन के आईजी दीपक वर्मा ने बताया है कि मुठभेड़ जारी है।

नक्सलियों को मुठभेड़ में मारे गए अपने साथियों के शव ले जाते देखा गया है। मुठभेड़ करीब पांच घंटे चली। इलाके में सुरक्षा बलों का ऑपरेशन जारी है। उन्होंने कहा कि कोबरा और जगुआर के एक-एक जवान को गोली लगी।

इनमें से कोबरा के जवान सत्यप्रकाश जायसवाल की मौत हो गई। घायल जवान संजय पासवान का इलाज रांची के अपोलो अस्पताल में चल रहा है। लातेहार के एसपी क्रांति कुमार ने भी घटना की पुष्टि की है।

नक्सलियों ने घायल जवानों को लाते समय पुलिस टीम पर हमला बोला। यह मुठभेड़ बरवाडीह थाना क्षेत्र के करमडीह के पास लात के जंगली इलाके में सुबह करीब 11:30 बजे शुरू हुई और करीब पांच घंटे बाद खत्म हुई।

पुलिस लगातार तीन दिन से उस क्षेत्र में नक्सल विरोधी अभियान चला रही है। सरजू इलाका पुलिस के कब्जे में होने के बाद बरवाडीह और गढ़वा के भंडरिया इलाके पर नक्सली हेडक्वार्टर बनाए हुए थे। वहां कई बड़े माओवादियों के जमे होने की पुलिस को सूचना है।

बता दें कि 27 जनवरी की रात करमडीह में ही नक्सलियों ने पुलिस की अस्थाई पिकेट पर हमला किया था। ग्रामीणों ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान करीब 40 धमाके सुनाई दिए। ये धमाके बारूदी सुरंग के थे। सुरक्षा बलों को इससे कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

पुलिस ने छानी जंगलों की खाक
नक्सलियों के गढ़ रहे सरजू इलाके को मुक्त कराकर पुलिस बरवाडीह के जंगलों में तीन दिन से अभियान चला रही थी।  पुलिस ने इस बार सड़कों को छोड़ जंगलों के रास्ते कॉम्बिंग की। इस बार मुठभेड़ में में सीआरपीएफ, कोबरा, जगुआर और जिला पुलिस के जवान शामिल हैं।

ज्ञात हो कि सरजू में पुलिस का कब्जा होने के बाद नक्सली बरवाडीह के करमडीह, लात दूसरी और गढ़वा थाने के सायना के जंगलों में अपना ठिकाना बनाए हुए हैं। बिहार के कई बड़े नक्सली नेताओं के भी करमडीह में जमे होने और नक्सलियों के ट्रेनिंग कैंप चलाने की सूचना पुलिस को मिली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुठभेड़ में छह नक्सली ढेर, एक जवान शहीद