DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल में परविंदर का जलवा देखने के लिए लोग बेताब

नोएडा। बंटी त्यागी

हरौला की तंग गलियों से क्रिकेट शुरू करने वाले परविंदर अवाना अब इंडियन प्रीमियर लीग-5 (आईपीएल) में अपना जलवा बिखेरेंगे। परविंदर की टीम किंग्स इलेवन पंजाब का मैच शुक्रवार है। लोगों को इन दिन का बड़ी बेसब्री से इंतजार है। उसके परिजन व आसपास के लोग परविंदर को आईपीएल में खेलता देखने के लिए तैयारी पूरी कर ली है। परविंदर के भाई ने लोगों के साथ टीवी पर एक साथ आईपीएल मैच देखने की योजना बनाई है। जब से आईपीएल में परविंदर अवाना का चयन हुआ है, हरौला स्थित उसके घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। परविंदर की 65 वर्षीय मां राजपाली बताती हैं कि परविंदर को बचपन से ही क्रिकेट का शौक था। वह स्कूल से आकर तुरंत हरौला की गलियों में बच्चों के साथ क्रिकेट खेलने लगता था। कई बार तो क्रिकेट खेलने से मना करने के मसले पर परविंदर को खूब डांट भी लगती थी। राजपाली के मुताबिक आज परविंदर की मेहनत और उसके शौक ने पूरे जिले के साथ पूरे प्रदेश का नाम भी रोशन कर दिया है।

परविंदर के भाई रतिंदर अवाना कहते हैं कि देश के बड़े खेलों में शुमार आईपीएल में परविंदर के खेलने से पूरे रिश्तेदारों के साथ गांव के लोगों में बहुत ही खुशी की लहर है। जिन-जिन लोगों को परविंदर के आईपीएल के खेलने की सूचना मिल रही है, वे अवाना परिवार के घर बधाइयां देने पहुंच रहे हैं। टीवी पर परविंदर को देखने की बनाई योजना परविंदर के भाई रतिंदर बताते हैं कि शुक्रवार को किंग्स इलेवन पंजाब का पहला मैच राजस्थान रॉयल्स के बीच खेला जाएगा। उस दिन टीवी पर मैच को देखने के लिए अन्य लोग घर पर आएंगे। परविंदर की तेज गेंदबाजी को देखने के लिए बुजुर्ग भी काफी दीवाने हैं।

लोगों की बढ़ती तादात को देखते हुए घर में उस दिन दो टेलीविजन पर मैच देखा जाएगा। हरौला की तंग गलियों में खेला करता था परविंदर परविंदर स्कूल के बाद तुरंत हरौला गांव की गलियों में बल्ला और गेंद लेकर बच्चों के साथ खेलने लग जाया करता था। परविंदर को शुरू से ही गेंदबाजी करने का शौक था। उसकी गेंदबाजी के आगे अच्छे-अच्छे बल्लेबाज आउट हो जाते थे।

आईपीएल में खेलने का सपना हुआ पूरा परिवार के मुताबिक परविंदर का आईपीएल में मैच खेलने का सपना था। उस सपने को पूरा होता देख परिवार के सारे सदस्य काफी खुश हैं। आईपीएल में बड़े-बड़े क्रिकेटर के साथ परविंदर को खेलता देख पूरे हरौला गांव में खुशी की लहर है। 2004 में मिली थी कॅरियर को उड़ान परविंदर के क्रिकेट कॅरियर की शुरुआत 2004 में हुई थी। एक निजी चैनल में तेज गेंदबाज प्रतियोगिता में परविंदर को सबसे तेज गेंदबाज के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

उस समय परविंदर ने 138 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी कर सभी को चौंका दिया था। डीयू से एमए कर रहा है क्रिकेटर परविंदर दिल्ली यूनिवर्सिटी के पीजीडीएवी कॉलेज से एमए की पढ़ाई कर रहा है। कॅरियर के दूसरे मैच में ही जमा दी थी हैट्रिक परविंदर के भाई रतिंदर बताते हैं कि 2007 में दिल्ली के टीम से रणजी ट्रॉफी में परविंदर ने एक साथ तीन विकेट लिए थे। इसके बाद अच्छी गेंदबाजी के चलते परविंदर को आगे बढ़ने का मौका मिलता गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपीएल में परविंदर का जलवा देखने के लिए लोग बेताब