DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

300 सिपाही दो दर्जन दरोगा बिना टिकट धराए

बिना टिकट ट्रेनों में सफर करने वाले पुलिसकर्मियों की अब खैर नहीं। आम यात्राी की जांच तो पहले की ही तरह होगी। ट्रेनों में सवार पुलिस वालों की जांच के लिए अलग से टीम तैयार की गई है। बिना टिकट पाए जाने पर इन्हें जुर्माना भरना होगा। टीम के सदस्यों से अभद्रता की तो सीधे जेल भेजे जाएंगे। इसके लिए एडीजी रेलवे की सहमति भी मिल गई है। पुलिस वालों के खिलाफ यह अभियान ट्रेनों में लगातार चलेगा। अभियान चलाने वाली टीम में रेलवे व आरपीएफ के लोग शामिल होंगे।  

पहले दिन 300 पर कार्रवाई
अभियान के पहले ही दिन बुधवार को कई ट्रेनों में छापेमारी कर 300 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गई। इनमें दरोगा और इंस्पेक्टर भी थे।

करते हैं सीटों पर कब्जा, अभद्रता
रेलवे अधिकारियों का कहना है कि पुलिसकर्मी बिना टिकट यात्रा करते ही हैं, यात्राियों की आरक्षित एसी व स्लीपर सीटों पर कब्जा जमा लेते हैं। उनके साथ गालीगलौज व अभद्रता भी करते हैं। बदतमीजी करने वाले पुलिसकर्मियों की शिकायत एडीजी से की जाएगी। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (आरपीएफ) इनके खिलाफ रिपोर्ट दजर्कर जेल भेजेगा।

अप-डाउन करते हैं सैकड़ों पुलिसकर्मी
लखनऊ-उन्नाव के सैकड़ों पुलिसकर्मी कानपुर में नौकरी करते हैं। इसी तरह से लखनऊ व उन्नाव में तैनात सैकड़ों पुलिसकर्मी कानपुर में रहते हैं। ये लोग ट्रेनों में बिना टिकट सफर करते हैं।

चित्रकूट एक्सप्रेस से हुई शुरुआत
बुधवार को आईआरटीएस, पूवरेत्तर रेलवे, चारबाग के सहायक वाणिज्य प्रबंधक राजीव सेठ के नेतृत्व में सुबह ही एक दल कानपुर सेंट्रल पहुंच गया। सबसे पहले चित्रकूट एक्सप्रेस में धरपकड़ शुरू की। दल के सदस्य पुलिसकर्मियों की ही जांच कर रहे थे। कई पुलिसकर्मियों ने दल के सदस्यों से गालीगलौज की, कई गिड़गिड़ाए तो कइयों ने बाहर देख लेने की धमकी भी दी। हालांकि, साथ में चल रहे आरपीएफ सिपाहियों की वजह से उन्हें जुर्माना देना पड़ा।

भरा 400-400 रुपए जुर्माना
पहले दिन के अभियान में एक दजर्न से अधिक दरोगा भी धरे गए। बिना टिकट सभी पुलिस वालों से 400-400 रुपए वसूल किए गए। ऊंचाहार, फरक्का, पुष्पक समेत एक दजर्न ट्रेनों में यह अभियान चलाया गया।

कोट
सुबह से शाम तक 300 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गई। कई सिपाहियों ने अभद्रता करने की कोशिश की तो उन्हें आरपीएफ के हवाले कर दिया गया। उसके बाद सभी ने जुर्माना भरा। एडीजी रेलवे का आदेश है कि कोई पुलिसकर्मी अभद्रता करे तो उसकी रिपोर्ट देने के साथ ही जेल भेजें।
राजीव सेठ, सहायक वाणिज्य प्रबंधक, पूवरेत्तर रेलवे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:300 सिपाही दो दर्जन दरोगा बिना टिकट धराए