DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लू लग जाए तो अचूक नुस्खा है प्याज

प्याज सब्जियों का एक बेहतरीन हिस्सा होने के साथ-साथ एक बेजोड़ औषधि भी है जो कई बीमारियों में काम आता है। प्याज दर्द निवारक और वात-पित्त-कफ नाशक होता है। प्याज के फायदे के बारे में बता रही हैं विभा मित्तल

लू लगने पर 2-4 चम्मच प्याज का रस पीड़ित व्यक्ति को पिलाएं, साथ ही प्याज के रस को कनपट्टी व छाती पर मलें, तुरंत राहत मिलेगी। अगर आधा कटे हुए प्याज को पॉकेट में रखकर घर से बाहर निकलें तो लू लगेगी ही नहीं।

5-6 ग्राम प्याज के रस में एक ग्राम सोंठ व एक ग्राम शहद मिलाकर पीने से कफ निकल जाता है। यह प्रयोग अस्थमा के रोगियों के लिए भी फायदेमंद साबित होता है। प्याज के रस को गर्म करके पिलाने से भी कफ निकलता है।

पेशाब खुलकर नहीं आ रहा हो तो सफेद प्याज के 5-10 ग्राम रस में शहद मिलाकर रोगी को पिलाएं। पेशाब खुलकर आ जाएगा। इसके अलावा अगर प्याज को पानी में उबाल कर उस पानी का सेवन कराया जाए तो मूत्र संबंधी रोग ठीक हो जाते हैं।

नकसीर रोकने के लिए प्याज के रस की कुछ बूंदे नाक में डालें। तुरंत फायदा होगा।

पथरी निकालने के लिए प्याज के रस में चीनी मिलाकर पीड़ित व्यक्ति को पिलाएं। पथरी खुद ही निकल जाएगी।

हैजे में जब उल्टी और दस्त लग जाते हैं तो प्याज के रस में काला नमक डालकर रोगी को पिलाएं, लाभ होगा।

अजीर्ण की शिकायत दूर करने के लिए प्याज के छोटे-छोटे टुकड़े कर लें। उसमें थोड़ा नींबू का रस व सिरका मिलाकर भोजन के साथ सेवन करें, लाभ होगा।

रक्त विकार दूर करने के लिए 50 ग्राम प्याज का रस, 10 ग्राम मिश्री व एक ग्राम भूना हुआ सफेद जीरा मिलाकर उसका सेवन करें।

मच्छर से परेशान हैं तो बिस्तर पर थोड़ा-सा प्याज का रस छिड़क दें, मच्छर तुरंत भाग जाएंगे।

अगर कहीं जल जाए तो उस जगह प्याज कुचलकर लगाएं, तुरंत आराम मिलेगा।

कुत्ता काट ले तो प्याज को कुचलकर लगाएं या पीसकर रस पिला दें, खतरा टल जाएगा।

जुकाम से परेशान हैं तो प्याज का रस सूंघें, राहत मिलेगी।

अधिक पसीना आता हो या पसीने से बदबू आती हो तो कच्चा प्याज खाएं, लाभ होगा।

सांप काट ले तो प्याज के 15 ग्राम रस में 15 ग्राम सरसों का तेल मिलाकर पिलाएं, लाभ होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लू लग जाए तो अचूक नुस्खा है प्याज