DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पर्यटक बिहार में देख सकेंगे लेजर शो

अगर आप बिहार घूमने आ रहे हैं तो अब आपको लेजर शो में यहां के अतीत के साथ-साथ आधुनिकता का भी समावेश देखने को मिलेगा। यानी पर्यटक धार्मिक और ऐतिहासिक स्थलों पर दिनभर घूमने के बाद शाम को लेजर शो का रोमांच भी महसूस कर सकेंगे।

बिहार की राजधानी और ऐतिहासिक नगरी पटना की पहचान बना गोलघर अब आपको बिल्कुल नए रूप में दिखेगा। गोलघर का पूरा प्रांगण स्वरलहरियों से गुंजायमान रहेगा और रंग-बिरंगे फव्वारों के बीच झिलमिलाती रोशनी आकर्षक दृश्य उपस्थित करेगी।

राज्य के पर्यटन विभाग के मंत्री सुनील कुमार पिंटू ने बताया कि ऐतिहासिक लाल किले की तर्ज पर शाम को लेजर शो के साथ लाइट एंड साउंड सिस्टम के माध्यम से गोलघर के इतिहास के अलावा बिहार के अतीत को भी पर्यटक जान सकेंगे। इसे थ्री-डी प्रोजेक्शन एवं वीडियो इमेजिंग के साथ दिखाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पर्यटक लगभग 150 वर्ष पूर्व ब्रिटिश काल में बने ऐतिहासिक गोलघर के अलावा पटना के गंगा तट के महेंद्रू, राजगीर के पांडु पोखर और बोधगया में लेजर शो का आनंद ले सकेंगे। वह कहते हैं कि इसके लिए काम शुरू कर दिया गया है, निविदा निकाल दी गई है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि अगले तीन से चार महीने के बाद इन सभी स्थानों पर ऐसे मोहक दृश्य दिखने लगेंगे।

मंत्री ने कहा कि गोलघर परिसर में एक फव्वारे का भी निर्माण कराया जाएगा। इस फव्वारे के पास रंग-बिरंगी रोशनी के बीच पाटलिपुत्र का इतिहास दिखाया जाएगा। इसी परिसर में हैंडलूम और हस्तशिल्प की वस्तुओं के करीब 20 स्टॉल खोले जाएंगे, जहां बिहार की पारम्परिक कलात्मक वस्तुओं और कपड़ों की खरीददारी भी पर्यटक आसानी से कर सकेंगे।

इसके अलावा पटना संग्रहालय देखने आने वाले पर्यटकों को ऑडियो टूर सिस्टम के तहत ईयर फोन उपलब्ध कराने की भी योजना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पर्यटक बिहार में देख सकेंगे लेजर शो