DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैशन डिजायनर युवती ने दिखाई हिम्मत

नोएडा। कार्यालय संवाददाता

फैशन डिजायनर युवती की सूझबूझ और हिम्मत ने दो शातिर महिला चोरों को हवालात पहुंचा दिया। सोमवार को ऑटो में बैठकर दोनों महिलाओं ने युवती का पर्स उड़ा दिया था। मंगलवार को उन महिलाओं ने युवती को निशाना बनाने की साजिश बनाई। जब वह ऑटो में बैठकर ऑफिस जाने लगी तो फिर वह महिलाएं ऑटो में बैठ गईं। महिलाओं ने लैपटॉप चोरी करने लगी। युवती ने लैपटॉप चोरी करते हुए दोनों को पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। कोतवाली सेक्टर-39 पुलिस ने दोनों महिलाओं को जेल भेज दिया है। जसोला विहार, नई दिल्ली निवासी सुमन रावत सेक्टर-65 की काव्या डिजायन में फैशन डिजायनर हैं। वह रोज बस से सेक्टर-37 व सेक्टर-37 से ऑफिस ऑटो से जाती है। सोमवार को बस से उतरकर जब वह ऑटो में बैठी तो महिलाएं अपने बच्चों के साथ उनके पास बैठ गईं। इसके बाद सुमन के बैग से पर्स की चोरी कर लिया। पर्स में पांच सौ रुपए, एटीएम कार्ड, डेबिट कार्ड था। मंगलवार को फिर रोज की तरह सुबह के समय बस से सेक्टर-37 उतरीं और ऑटो की तरफ जाने लगीं।

तभी दोनों महिलाओं ने फिर पीछा किया। सुमन ऑटो में बैठी तो वे दोनों महिलाएं फिर सुमन के पास ऑटो में आ गईं। सुमन को शक हो गया। थोड़ी देर में सुमन ने अपना ध्यान हटाया कि लैपटॉप बैग चेारी करने लगी। तभी सुमन ने दोनों को रंगेहाथ पकड़ लिया और पुलिस को कॉल कर दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों महिलाओंे की पहचान फरीदाबाद निवासी लाली व पिंकी के रूप में हुई है। लाली के साथ चार साल की बच्चाी व पिंकी के साथ दो साल का लड़का था। पीछा करने पर युवती को हुआ शकसोमवार की घटना के बाद फैशन डिजायनर युवती सुमन को कोई आभास नहीं था। मंगलवार को जब वह उतरी तो ये दोनों महिलाएं सक्रिय हो गई।

जब सुमन ने देखा तो लगा कि ये वही महिलाएं हो सकती हैं लेकिन चेहरा न देख पाने के कारण पहचान नहीं पाई। जब सुमन ऑटो पकड़ने के लिए थोड़ा आगे बढ़ गई तो दोनों महिलाएं भी पीछे वाले ऑटो को छोड़कर उसी के पास आ गईं। इसके बाद ही सुमन को शक हुआ। आगरा में भी सुमन ने दिखाई थी बहाुदरी सैन्य परिवार से ताल्लुक रखने वाली सुमन रावत ने इससे पहले भी हिम्मत दिखाते हुए मनचलों की पिटाई की थी।

सुमन की दोस्त नगमा ने बताया कि जब सुमन आगरा में थी तो मनचलों ने राह चलते छेड़खानी कर दी थी। इसके बाद सुमन ने हिम्मत दिखाते हुए उसे पकड़ लिया था और जमकर पिटाई की थी। रोज करती हैं रेकी इस तरह की महिलाओं का एक नेटवर्क है जो शहर में काम करता है। इस नेटवर्क में डेढ़ दर्जन से अधिक महिलाएं हैं जो शहर के भीड़भाड़ वाले चौराहे पर सक्रिय हैं। रोज आने जाने वाली महिलाओं व युवतियों की रेकी करती हैं। इसके बाद ऑटो या बस में बैठकर चोरी की घटनाओं को अंजाम देती है। दो से दस मिनट का है खेल हिरासत में पूछताछ के दौरान पिंकी ने पुलिस को बताया कि दो से दस मिनट का समय चोरी में लगता है। पड़ाेस में बैठने वाली महिला की लापरवाही या चौकन्ना होने पर यह समय लगता है। पुलिस के अनुसार ये महिलाएं रोज कम से कम आठ से दस लोगों को निशाना बनाती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फैशन डिजायनर युवती ने दिखाई हिम्मत