DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूल से बैंक कर्मचारी के बेटे का अपहरण

डाकपत्थर के सरस्वती विद्या मंदिर हाईस्कूल से एक युवती ने बैंक कर्मचारी के पांच साल के बेटे का अपहरण कर लिया। घटना के समय बच्चा आया के साथ स्कूल के गेट पर खड़ा था। युवती खुद को बच्चे की मौसी बताकर उठा ले गई। बच्चाे की मां जब उसे लेने स्कूल पहुंची तो घटना का पता चला।


स्कूल से बच्चाे के अपहरण की खबर से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी। पुलिस ने सीमाएं सीज कर चेकिंग अभियान चलाया लेकिन बच्चाे का पता नहीं चल पाया। पुलिस स्कूल की आया से पूछताछ कर रही है। अपहरण करने वाली युवती स्कैच तैयार करने के लिए विशेषज्ञ बुलाये गये हैं। स्कूल से बच्चाे के अपहरण से गुस्साए स्थानीय लोगों ने डाकपत्थर चौकी पर प्रदर्शन किया और बाजार बंद कर सड़क जाम कर दी।

मूल रूप से टिहरी जिले के कीर्तिनगर ब्लॉक के धारकोट ढुंडसिर गांव निवासी विनोद कंडारी यहां ओरियंटल बैंक के कर्मचारी हैं। उनका पांच साल का बेटा राजन कंडारी सरस्वती विद्या मंदिर हाईस्कूल डाकपत्थर में केजी में पढ़ता है। मंगलवार को कंडारी खुद बेटे को स्कूल छोड़ आए थे। साढ़े दस बजे छुट्टी के बाद जब उनकी पत्नी बेटे को लेने पहुंची तो उन्हें घटना का पता चला।

कैसे हुआ अपहरण
बच्चे के साथ मौजूद आया कमला का कहना है कि छुट्टी होते ही एक युवती वहां पहुंची। युवती ने खुद को श्रीनगर की बताते हुए कहा कि वह बच्चाे की मौसी है और राजन को लेने आयी है। बच्चे ने कमला ने राजन से युवती के साथ जाने को पूछा तो उसने मना कर दिया। तभी कमला पानी लेने चली गई और दूसरी आया सरिता ने युवती की बात पर विश्वास कर राजन को उसके साथ भेज दिया। बकौल आया युवती गेट तक बच्चे को पैदल अपने साथ ले गई। उसके बाद युवती बच्चाे को लेकर कहां गई, कैसे गयी किसी को कुछ पता नहीं लग पाया।

बच्चाे को बरामद करने के लिए पुलिस ने चेकिंग अभियान चलाया है। हिमाचल पुलिस को भी बच्चाे और अपहर्ता युवती का हुलिया बताकर अलर्ट कर दिया गया है। स्कूल की आया से भी पूछताछ की जा रही है
जीसी ध्यानी, एसपी देहात, देहरादून

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्कूल से बैंक कर्मचारी के बेटे का अपहरण