DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फरीदाबाद और गुड़गांव पसंदीदा शहर हैं लोगों के

गुड़गांव-फरीदाबाद हाइवे बनते ही दोनों शहर काफी करीब आ गए। अब तो लोग कारोबार गुड़गांव में करना चाहते हैं और आशियाना फरीदाबाद में रखना चाहते हैं। यानी कारोबार के लिहाज से गुड़गांव तो रिहायश के लिहाज से फरीदाबाद पसंदीदा शहर बनता जा रहा है। फरीदाबाद और गुड़गांव प्रशासन ने बढ़ाए सर्किल रेट इसकी तस्दीक करते हैं।

 जी हां, फरीदाबाद में रिहायशी क्षेत्र के सर्किल रेट में सौ फीसदी तक बढ़ोतरी की गई है, जबकि कॉमर्शियल क्षेत्र में काफी कम रेट बढ़ाए गए हैं। गुड़गांव में यह उल्टा है। वहां कॉमर्शियल सर्किल रेट सबसे ज्यादा बढ़ाए गए हैं और रिहायशी क्षेत्र के सर्किल रेटों में वृद्धि कम हुई है। इस बदलती तस्वीर को साबित करने के लिए दूसरा तर्क भी है। फरीदाबाद की एक ट्रैफिक इंस्टीट्यूट ने मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को गुड़गांव-फरीदाबाद हाइवे पर हरियाणा रोडवेज की एसी बसें चलाने की मांग की है। जिसकी वजह से दोनों शहर में बढ़ती नजदीकियां बताई गई हैं। हर पांच मिनट में बस सर्विस शुरू होने से निजी वाहनों की संख्या भी इस रोड पर कम होने का तर्क संस्था ने दिया है। सफर सुहाना होने पर लोग रोडवेज की बस से आना ज्यादा पसंद करेंगे। आए दिन बढ़ रहे तेल के बढ़ते दाम भी लोगों को दिनचर्या में बदलाव करने के लिए मजबूर कर रहा है।

गौरतलब है कि हरियाणा सरकार हर वर्ष सर्किल रेट में बढ़ोतरी करती है। जो नए वित्त वर्ष एक अप्रैल से लागू होते हैं। फरीदाबाद के सर्किल रेट 15 फीसदी से लेकर सौ फीसदी तक बढ़े हैं। गुड़गांव में चालीस फीसदी तक बढ़ोतरी की गई है। वृद्धि दर और लोकेशन के लिहाज से दोनों में काफी फर्क है। फरीदाबाद में सबसे ज्यादा सौ फीसदी बढ़ोतरी रिहायशी क्षेत्र में हुई है। जबकि गुड़गांव में कॉमर्शियल क्षेत्र ने बाजी मारी है। वहां सबसे ज्यादा चालीस फीसदी बढ़ोतरी की गई। रिहायशी क्षेत्र में यह वृद्धि 15 से बीस फीसदी तक रही। इससे साबित होता है कि दिल्ली से लगते प्रदेश के ये दोनों शहर अलग-अलग लिहाज से अपनी पहचान कायम कर रहे हैं। यानी लोग कारोबार तो गुड़गांव में करना चाहते हैं, लेकिन रिहायशी के लिए फरीदाबाद का रुख कर रहे हैं।
---------------------
डॉ. रोहित बलूजा, प्रधान इंस्टीट्यूट ऑफ रोड ट्रैफिक: गुड़गांव की बजाय लोग फरीदाबाद की तरफ ज्यादा रूख कर रहे हैं। गुड़गांव फरीदाबाद रोड पर बढ़ता ट्रैफिक इसका मापदंड है। इसके लिए हरियाणा सरकार को इस रोड पर हरियाणा रोडवेज बस हर पांच मिनट में चलानी चाहिए। ताकि लोग निजी वाहनों की बजाय रोडवेज बसों में सफर कर सकें। रोड पर ट्रैफिक का दबाव कम होगा और दुर्घटना की आशंका भी कम होगी।
-------------------------------
सर्किल रेट के लिहाज से फरीदाबाद के सबसे हॉट क्षेत्र

क्षेत्र                   पुराना सर्किल रेट            नया सर्किल रेट

सेक्टर-62:              8000                   16000
सेक्टर-63:              8000                   16000
सेक्टर-64:              8000                   16000
सेक्टर-65:              8000                   16000

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फरीदाबाद और गुड़गांव पसंदीदा शहर हैं लोगों के