DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैट्रिक के परीक्षार्थियों को मिलेगा बेहतर अंक

हिन्दुस्तान प्रतिनिधि पटना। इस बार मैट्रिक के परीक्षार्थियों को बेहतर अंक प्राप्त होगा। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मार्किंग स्कीम की जानकारी देने के लिए चार अप्रैल को सभी मूल्यांकन निदेशकों की बैठक बुलायी है। इस बैठक में मूल्यांकन निदेशकों को सीबीएसई पैटर्न की विशेष जानकारी दी जाएगी।

बैठक बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के कार्यालय बुलायी गयी है। समिति के अध्यक्ष प्रो. राजमणि प्रसाद सिन्हा ने बताया कि छात्रों की शिकायत दूर की जाएगी। इसबार मूल्यांकन पद्धति में परिवर्तन किया जाएगा। छात्रों को हर छोटे जवाब के लिए अंक दिया जाएगा। इसमें किसी तरह की कोताही नहीं बरती जाएगी।

साथ ही अध्यक्ष ने बताया कि जिन मूल्यांकन निदेशकों को ट्रेनिंग दी जाएगी वे सभी जिलों के केन्द्राधीक्षकों को मार्किंग स्कीम की जानकारी देंगे। इसीके आधार पर कॉपियों का मूल्यांकन करेंगे। डा. सिन्हा ने बताया कि एक भी शिक्षक के बारे में गड़बड़ी करने की शिकायत मिलती है तो उनपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इसके अलावा वैसे शिक्षकों को हमेशा के लिए ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा। कई बार शिकायत मिलती है कि केन्द्राधीक्षकों की मिलीभगत से कॉपियों में गड़बड़ी की जाती है। इसी तरह से समिति की ओर से पिछले साल हुए बाल संसद में छात्रों ने मार्किंग पद्धति पर ही सवाल उठाए थे।

छात्रों ने कहा कि बोर्ड में सही तरीके से अंक नहीं दिया जाता है। टॉपर छात्रों की राय को गंभीरता से लेते हुए मार्किंग पैटर्न में फेरबदल किया जा रहा है। इसबार सूबे के 12 लाख 68 हजार से ज्यादा छात्र परीक्षा में शामिल हुए थे। कॉपियों के मूल्यांकन की प्रक्रिया दस अप्रैल से शुरू हो जाएगी। इसके 103 केन्द्र बनाए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैट्रिक के परीक्षार्थियों को मिलेगा बेहतर अंक