DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीआई ने अदालत में पेश किए दो गवाह

हिन्दुस्तान प्रतिनिधि पटना। बहुचर्चित चारा घोटाले के एक मामले में सीबीआई ने सोमवार को बिहार विधान सभा कार्यालय के तत्कालीन अवर सचिव पृथ्वीराज गोंड और भागलपुर डीएम कार्यालय के तत्कालीन स्टेनो महेश प्रसाद को सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया और दोनों की गवाही करायी।

सीबीआई के दोनों गवाहों ने कहा कि चारा घोटाला से संबंधित मुकदमा की जानकारी उन्हें नहीं है। तत्कालीन अवर सचिव गोंड ने विशेष अदालत में गवाही देते हुए कहा कि उस समय बिहार विधान सभा के अध्यक्ष सदानंद सिंह थे, जो अभी एमएलए हैं।

सासंद जगदीश शर्मा व पूर्व सासंद रवीन्द्र कुमार राणा के विरुद्ध मुकदमा चलाने के लिए अभियोजन स्वीकृति आदेश के लिए अनुमति पत्र को मैंने ही टाइप किया था, जिस पर तत्कालीन बिहार विधान सभा के अध्यक्ष सदानंद सिंह के हस्ताक्षर है।

दूसरे गवाह ने कहा कि नेताई कुमार सेन व बी के सिन्हा के विरुद्ध अभियोजन स्वीकृति आदेश तत्कालीन डीएम के आदेश पर मैंने ही टाइप किया था। चारा घोटाले का यह मामला भागलपुर व बांका कोषागार से संबिधत है। यह कुल 47 लाख रुपए की फर्जी निकासी से संबिधत है।

इस कांड में कुल 33 आरोपितों के खिलाफ ट्रायल शुरु हुआ है। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश विजय कुमार श्रीवास्तव ने सीबीआई के वकील के अनुरोध पर इस मामले में साक्ष्य पेश करने के लिए 24 अप्रैल को अगली तिथि निर्धारित की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीबीआई ने अदालत में पेश किए दो गवाह