DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंतरिक सुरक्षा में सकारात्मक भूमिका निभाएगी आईटीबीपी

पटना(हि.ब्यू.)। बिहार में सीआरपीएफ के बाद अब आईटीबीपी (भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल) भी आंतरिक सुरक्षा में सक्रिय भागीदारी को तैयार है। गुरिल्ला युद्ध में माहिर आईटीबीपी को फिलहाल छत्तीसगढ़ में नक्सल ऑपरेशन में लगाया गया है। आईटीबीपी के डीजी रंजीत सिन्हा ने कहा है कि गृह मंत्रालय के निर्देश पर आईटीबीपी आंतरिक सुरक्षा में भी सकारात्मक भूमिका निभाएगी।

सोमवार को दानापुर (पटना) के श्रीकृष्णापुरम में भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) के क्षेत्रीय मुख्यालय के उद्घाटन के मौके पर उन्होंने कहा कि पटना में आईटीबीपी का सेक्टर मुख्यालय सामरिक और रणनीति दृष्किोण से भी बहुत महत्वपूर्ण है।

जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखण्ड और उत्तरपूर्व के राज्यों को जोड़ने वाला राज्य है बिहार। आईटीबीपी में बड़ी तादाद में बिहार और झारखण्ड के लोग तैनात हैं और यहां स्थायी कैम्प की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। डीजी ने कहा कि आईटीबीपी के स्वर्ण जयंती वर्ष के मौके पर छपरा और कटिहार में आईटीबीपी की एक-एक बटालियन के प्रस्ताव को भी गृह मंत्रालय ने मंजूरी दे दी है।

उन्होंने कहा कि बिहार में सेक्टर मुख्यालय होने से यहां के युवक और युवतियों को आईटीबीपी में भर्ती होने का भी मौका मिलेगा। इसके अलावा आईटीबीपी की ओर से मुफ्त चिकित्सा कैम्प की सुविधा भी यहां के लोगों को मिलती रहेगी। यह सेक्टर मुख्यालय में डीआईजी स्तर के एक अधिकारी में काम करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आंतरिक सुरक्षा में सकारात्मक भूमिका निभाएगी आईटीबीपी