DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सैन्य खरीद प्रक्रिया में सुधार पर जोर

रक्षा मंत्री ए,के. एंटनी ने सोमवार को सेना प्रमुख जनरल वी.के. सिंह व अन्य सैन्य अधिकारियों के साथ धुआंधार बैठकें की। इसमें सैन्य खरीद प्रक्रिया में सुधार लाने और उसे ज्यादा जवाबदेह बनाने पर जोर दिया गया।

सैन्य खरीद में रिश्वतखोरी के सेना प्रमुख वी.के. सिंह के आरोप और पीएम को लिखे उनके गोपनीय पत्र लीक होने से उपजे विवादों के बीच यह पहला मौका था जब सेनाध्यक्ष व रक्षामंत्री एक साथ नजर आए।

रक्षा मंत्री एंटनी ने सेनाप्रमुख वीके सिंह, सेना व मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में साफ कहा कि सैन्य खरीदारी प्रक्रिया सहज व कारगर हो। वहीं तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ भी उन्होंने एक बैठक की। इस दौरान क्षमता विकास के लिए एक योजना को मंजूरी दी गई। इसके साथ ही ऑफसेट नीति में प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के साथ एक बड़ा बदलाव किया गया। रक्षामंत्री की अध्यक्षता में रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) ने 15 साल की दीर्घकालिक एकीकृत दृष्टिकोण योजना (एलटीआईपीपी) को भी मंजूरी दी। इसमें सशस्त्र बलों की जरूरतों के स्वदेशीकरण एवं निजी क्षेत्र को पुरजोर तरीके से शामिल कर पूरा करने पर जोर दिया जाएगा। बैठकों के बाबत रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि एंटनी ने सेना को निर्देश दिए हैं कि अधिग्रहण प्रक्रिया इस तरीके से की जाए, जिसमें किसी गड़बड़ी की स्थिति में जवाबदेही तय हो सके। साथ ही परीक्षणों के लिए कम समय रखने की संभावना तलाशी जाए।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सैन्य खरीद प्रक्रिया में सुधार पर जोर