DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेन आते ही जगमगा उठेगा पूरा प्लेटफार्म

स्टेशनों में बिजली की फिजूलखर्ची रोकने के लिए पूर्वाेत्तर रेलवे एक अनूठा प्रयोग शुरू करने जा रहा है। प्लेटफार्मो पर सत्तर फीसदी लाइटें तभी जलेंगी, जब ट्रेन आएगी। ट्रेन के गुजरते ही ये लाइटें अपने-आप बुझ जाएंगी। साल के आखिरी तक यह व्यवस्था शुरू हो जाएगी।


नई योजना के तहत इज्जतनगर, वाराणसी और लखनऊ मंडल के कुल 119 स्टेशनों के लाइटिंग सिस्टम को ऑटो टाइमर से जोड़ा जाना है। पहले चरण में इस व्यवस्था को अपेक्षाकृत कम भीड़ वाले स्टेशनों पर शुरू किया जा रहा है। पूवरेत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल में शामिल इलाहाबाद सिटी (रामबाग) स्टेशन को पहले चरण में शामिल किया गया है। यहां से रोजाना 26 सवारी गाड़ियां और एक दजर्न माल गाड़ियां गुजरती हैं। धीरे-धीरे इसे सभी स्टेशनों पर लागू किया जाना है। एनईआर ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। अधिकारियों का मानना है कि इस व्यवस्था से बिजली की काफी बचत होगी।

यूं जगमगा उठेंगे प्लेटफॉर्म
रेलवे स्टेशनों के लाइटिंग सिस्टम को ऑटो टाइमर से जोड़ा जाएगा।
इससे होम सिग्नल और ट्रैक को जोड़ने की योजना है।
ट्रैक पर जैसे ही ट्रेन का लोड पड़ेगा, प्लेटफॉर्म की सभी लाइटें जल जाएंगी।
जैसे ही ट्रेन होम सिग्नल तक पहुंचेंगी, 70 प्रतिशत लाइटें बंद हो जाएंगी।


यह स्टेशन प्रोजेक्ट में शामिल
मंडल  स्टेशन
इज्जतनगर मंडल 32
वाराणसी मंडल  57
लखनऊ मंडल  30

बिजली का बेतहाशा खर्च रेलवे के लिए चिंता का सबब है। ज्यादा बिजली बचाने के लिए ऑटो टाइमर सिस्टम इस्तेमाल करने की योजना है। कोशिश कामयाब हुई तो इसे सभी जगह लागू किया जाएगा।
अमित सिंह, सीपीआरओ, एनईआर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रेन आते ही जगमगा उठेगा पूरा प्लेटफार्म