DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नशे में कार से तीन को रौंदा, दो की मौत

नशे में तेज रफ्तार से कार चला रहे युवक ने एक बाइक को टक्कर मार दी। इससे बाइक सवार तीन युवकों में दो की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बाइक के साथ ही कार के अगले हिस्से के भी परखच्चे उड़ गए।

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
शनिवार देर रात राजपुर रोड स्थित साईं मंदिर के पास हरियाणा नंबर की फॉच्यरूनर कार ने रांग साइड पर जाकर एक बाइक को टक्कर मार दी। अनियंत्रित हुई कार के साथ बाइक करीब 100 मीटर घिसटती चली गई। इसके बाद कार सड़क किनारे पेड़ से जा टकराई। एयरबैग खुलने से कार चला रहे मैनपुर, पटना (बिहार) निवासी राजेश यादव पुत्र राम प्रसाद यादव को खरोंच तक नहीं आई। जबकि बाइक सवार भूपेंद्र (24) पुत्र ताराचंद और जितेंद्र (23) पुत्र समीदास निवासी ग्राम मालसी की मौके पर मौत हो गई। बाइक पर सवार तीसरे युवक रोहित (22) पुत्र दिलबहादुर ग्राम मालसी के पांव और सिर में गंभीर चोटें आई हैं। दुर्घटना के बाद राजेश ने भागने की कोशिश की, लेकिन पीछे से आ रहे लोगों ने उसे दबोच लिया। सूचना पर पुलिस और 108 एंबुलेंस मौके पर पहुंच गई। आरोपी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। बाइक सवार तीनों युवकों को दून हॉस्पिटल लाया गया जहां भूपेंद्र और जितेंद्र को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। रोहित को हॉस्पिटल में भर्ती कर लिया गया। पुलिस ने बताया कि मेडिकल में राजेश यादव के नशे में होने की पुष्टि हुई है।
बाल-बाले बचे बाकी लोग
मालसी गांव के कई लोग शनिवार रात ओल्ड मसूरी रोड स्थित सुरा देवी मंदिर के देवी जागरण में शामिल होने गए थे। रात में जागरण से लौटते वक्त भूपेंद्र, जितेंद्र, रोहित सबसे आगे एक बाइक पर थे जबकि अन्य युवक पीछे दूसरी बाइकों पर आ रहे थे। भूपेंद्र के भाई महेंद्र का कहना है कि वह भी कार की चपेट में आने से बाल-बाल बचे।
विधायक भी पहुंचे थाना
राजपुर विधायक राजकुमार रविवार सुबह मृतकों के परिजनों को सांत्वना देने मालसी गांव जाने के साथ ही राजपुर थाने पहुंचे। इसके बाद वह दून हॉस्पिटल और पोस्टमार्टम हाउस भी पहुंचे। मृतक भूपेंद्र डीजे का काम करता था। रोहित भी उसके साथ ही रहता था। जबकि जितेंद्र पार्षद विनय कोहली का ड्राइवर था। वह शनिवार रात सवा आठ बजे ही पार्षद के घर से निकला था।
सिगरेट तलाशने निकला था राजेश
महंगी कार और महंगे अपार्टमेंट्स में रहने वाला राजेश यादव कुआंवाला स्थित जेसीबी एजेंसी का संचालक है। कुछ समय पहले ही राजेश ने दून में एजेंसी खोली। फिलहाल वह यहां सहस्रधारा रोड स्थित अरबोरिया अर्पाटमेंट्स में अकेले रह रहा है। इससे पहले वह हरियाणा में था। उसके पास ड्राइविंग लाइसेंस भी हरियाणा के गुड़गांव का मिला। घटना के वक्त आरोपी राजेश जाखन से सिगरेट खरीदकर लौट रहा था। खाली सड़क देखकर नशे में धुत राजेश ने स्पीड बढ़ा दी और फिर कार को रांग साइड ले जाकर सामने से आ रही बाइक को टक्कर मार दी। आरोपी की हरियाणा सरकार में मजबूत पकड़ है। राजेश को छुड़ाने के लिए हरियाणा के कई सफेदपोशों के साथ ही आला पुलिस अधिकारियों के फोन भी आए।

किसने तोड़ी कार की नंबर प्लेट
फॉच्यरूनर कार की दोनों नंबर प्लेट टूटी मिलीं। अब सवाल यह उठता है कि नंबर प्लेट आखिर तोड़ीं किसने? गौरतलब है कि कार की अगली और पिछली दोनों नंबर प्लेटों को सलीके से काटा गया था। अगर यह मान लिया जाए कि कार की अगली नंबर प्लेट एक्सीडेंट में टूट गई तो भी पिछली नंबर प्लेट किसने तोड़ी या काटी। घटना के वक्त मौके पर मालसी गांव के अन्य युवक पहुंच गए थे, तब तक राजेश कार से उतरने की कोशिश ही कर रहा था। इसके बाद से कार पुलिस के कब्जे में है। ऐसे में नंबर प्लेट तोड़ने के पीछे किसकी और क्या मंशा है? यह सवाल उठ रहे हैं। फिलहाल पुलिस ने इससे अनभिज्ञता जता रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नशे में कार से तीन को रौंदा, दो की मौत