DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक घंटे में बदला जाएगा खराब ट्रांसफॉर्मर

इस बार गर्मी में ट्रांसफॉर्मर खराब होने पर बिजली की किल्लत नहीं ङोलनी होगी। इसके लिए विद्युत निगम की ओर से खास योजना बनाई है। डिविजन वाइज छह-छह ट्रांसफार्मर स्टॉक में अलग से रखने की व्यवस्था की गई है। इनमें एक-एक ट्रांसफार्मर मोबाइल ट्रॉली में फिट करवाया जाएगा, ताकि ट्रांसफॉर्मर खराब होने की दशा में बिजली निगम का दस्ता मोबाइल ट्रॉली में रखे ट्रांसफार्मर से वहां की बिजली चालू कर सके। वह भी मात्र एक घंटे में। यही नहीं, जजर्र तारों को भी बदलने का काम तेजी से चल रहा है। बिजली निगम अधिकारियों का मानना है कि इस बार उपभोक्ताओं को गर्मियों के दिनों में बिजली गुल का सामना नहीं करना पड़ेगा।

फरीदाबाद की औद्योगिक नगरी में ओवरलोड के चलते आए दिन ट्रांसफॉर्मर खराब होते रहते हैं। गर्मियों के दिनों में ट्रांसफार्मरों के खराब होने की संख्या में और भी इजाफा हो जाता है। दरअसल, गर्मी के दिनों में एसी, कूलर व पंखों के चलने से बिजली का लोड इतना बढ़ जाता है कि बिजली की लाइनें और उस पर लगे ट्रांसफार्मर ओवरलोड होने लग जाते हैं। इससे जजर्र तारों के टूटने व ट्रांसफॉर्मरों के जलने की शिकायतें मिलती रहती हैं। ऐसे में लोग धरना देने व जाम करने पर उतारू हो जाते हैं, लेकिन इस बार उपभोक्ताओं को इस समस्या से मुक्ति मिलने वाली है। अधीक्षण अभियंता संजीव चोपड़ा ने गर्मी में उपभोक्ताओं की इस समस्याओं का निदान करने की एक योजना बनाई है। इस संबंध में सर्किल कार्यालय में एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें एनआईटी डिविजन के कार्यकारी अभियंता केसी अग्रवाल व ओल्ड डिविजन के कार्यकारी अभियंता श्यामबीर सैनी समेत विभाग के कई अधिकारी मौजूद थे। अधीक्षण अभियंता ने अधिकारियों से कहा कि इस बार गर्मी में प्रत्येक सब-डिविजन को छह-छह अतिरिक्त ट्रांसफॉर्मर मुहैया कराए जाएंगे। इनमें 200 केवीए और 100 केवीए का एक ट्रांसफॉर्मर ट्रॉली में फिट किया जाएगा, ताकि खराब ट्रांसफॉर्मर के स्थान पर उसे तुरंत उस क्षेत्र में लगाया जा सके। अधीक्षण अभियंता चोपड़ा का दावा है कि ट्रांसफार्मर खराब होने की दशा में उसे मात्र एक घंटे में बदल दिया जाएगा।

गर्मियों में न आए फॉल्ट, बदली जा रही हैं जजर्र तारें
गर्मी में बिजली निगम ने जजर्र तारों को बदलने की कवायद शुरू की है। सबसे पहले उन फीडरों के जजर्र तार बदले जा रहे हैं, जहां पिछली गर्मी में उपभोक्ताओं को बिजली के झटके सहने पड़े थे। अधीक्षण अभियंता चोपड़ा ने बताया कि गर्मी से पहले आठ फीडरों की मरम्मत की जाएगी। इनमें गांधी कालोनी, पल्ला, अलावलपुर व खेड़ी कलां के अलावा बल्लभगढ़ डिविजन के फीडर शामिल हैं। इसके लिए मैटेरियल मुहैया कराया गया है।

बदले जा चुके हैं 48 ट्रांसफॉर्मर : इस बार गर्मियों में उपभोक्ताओं को ओवरलोड कटों से भी काफी हद तक छुटकारा मिलेगा। विभाग की ओर से उन ट्रांसफॉर्मरों को गर्मी का सीजन शुरू होने से पहले ही बदलवा दिया है। अब तक 48 ट्रांसफॉर्मर बदलवाए जा चुके हैं।

फीडरों की मरम्मत का काम शुरू : गर्मी को देखते हुए इस बार बिजली निगम बिजली लाइनों की विशेष निगरानी करने में जुटा हुआ है। एनआईटी के कार्यकारी अभियंता केसी अग्रवाल की मानें तो इस बार गर्मियों में फॉल्ट के चलते बिजली गुल नहीं होगी। इसे लेकर कनिष्ठ अभियंताओं को निर्देश दिए गए हैं कि वह क्षेत्र में बिजली की मरम्मत का काम जल्द पूरा करा लें। इस व्यवस्था के चलते एनएच पांच, बीके चौक, जनता कॉलोनी, पर्वतीय कॉलोनी, जवाहर कॉलोनी, डबुआ कॉलोनी, एनएच दो, सेक्टर-23, संजय कॉलोनी व मुजेसर फीडर की लाइनों को दुरुस्त करने का  काम किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक घंटे में बदला जाएगा खराब ट्रांसफॉर्मर