DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेक्टर के अस्पताल संचालकों को देना होगा हिसाब

हुडा से शहर के सेक्टरों में कौड़ियों के भाव पर जमीन लेने वाले आधा दर्जन से अधिक निजी अस्पताल संचालकों को जरूरतमंद मरीजों को सस्ते दर पर इलाज का पूरा हिसाब देना होगा। शर्तो का उल्लंघन करने वाले अस्पताल संचालक के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। इस पर नजर रखने के लिए उप मंडल मजिस्ट्रेट, हुडा सम्पदा अधिकारी, सिविल सजर्न के नेतृत्व में एक संयुक्त कमेटी गठित की गई है।
 
अस्पतालों के कामकाज की निगरानी के लिए जिला प्रशासन ने उप मंडल अधिकारी यशपाल यादव व बल्लभगढ़ के इंद्रपाल विश्नोई, हुडा के सम्पदा अधिकारी वीर सिंह काली रमण और सिविल सजर्न डॉ.एचआर यादव के नेतृत्व में टीम गठित की है, जो इन अस्पतालों का रिकार्ड खंगाल कर इसकी रिपोर्ट जिला प्रशासन को सौपेंगी। इन अस्पताल के निर्माण के लिए हुडा की ओर से रियायती दरों पर जमीन दी गई है। इसके एवज में शर्तो के मुताबिक जरूरतमंद लोगों को सस्ते दर इलाज की मुहैया कराना है।

जानकारी के अनुसार प्रथम चरण में सेक्टर-16, 18, 21ए और आठ में सात अस्पताल की पहचान की गई है। सीएमओ का कहना है कि इन अस्पतालों के रिकार्ड की जांच जल्द की जाएगी। अगर कोई खामियां पाई जाती है तो उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी। वहीं, पिछले दिनों ग्रीवेंस कमेटी के बैठक में भी ऐसे अस्पताल संचालकों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया था। इस दौरान शहर के कुछ अस्पताल के जमीन को जब्त करने के भी निर्देश दिए गए थे। इसके साथ ही संबंधित विभाग के पदाधिकारियों को ऐसे अस्पताल की सूची तैयार करने के निर्देश दिए गए थे। बताया जा रहा है इसकी दूसरी सूची भी जल्द संबंधित अधिकारियों को सौंप दी जाएगी।

इन अस्पताल पर होगी नजर
सन फ्लैग हॉस्पिटल: सेक्टर-16
मेट्रो हार्ट हॉस्पिटल: सेक्टर-16
ब्ल्यू सफायर अस्पताल सेक्टर- 21 ए
अंशू प्रभा अस्पताल सेक्टर-18
डॉ. अरुण प्रभा जैन अस्पताल सेक्टर-21 बी
ओजस हॉस्पिटल सेक्टर-8
क्यूआरजी सेंट्रल हॉस्पिटल

सिविल सजर्न डॉ. एचआर यादव : जिला प्रशासन की ओर से कुछ अस्पतालों की सूची मुहैया कराई गई है। टीम गठित कर ऐसे अस्पतालों का औचक निरीक्षण का निर्देश दिया गया है।

इनका देना होगा जबाब
- जरूरतमंदों का इलाज के दौरान मिलने वाली छूट
- ओपीडी में कितने में कितने मरीजों को मिला लाभ
- बिस्तर की संख्या कब-कब बढ़ाई गई
- अस्पताल के शुरू होने की तारीख
- मरीजों को मिलने वाली लाभ का रिकार्ड
- जमीन मिलने के दौरान हुडा और अस्पताल संचालक के बीच हुए करार
- गरीब मरीजों को दी गई निशुल्क सुविधा का व्योरा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेक्टर के अस्पताल संचालकों को देना होगा हिसाब