DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैपिड मेट्रो के दूसरे फेज का रास्ता साफ

साइबर सिटी में रैपिड मेट्रो के दूसरे फेज का रास्ता साफ हो गया है। हरियाणा अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी (हुडा) ने रैपिड मेट्रो के दूसरे फेज का टेंडर जारी कर दिया है। इस फेज में मेट्रो सिकंदरपुर से सेक्टर-56 तक जानी है। टेंडरिंग और अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद साल की अंतिम तिमाही में काम शुरू हो सकता है। दूसरे फेज का सीधा फायदा डीएलएफ के फेज वन और फोर, सेक्टर 27, 28, 42, 43, 53, 54, 55,56, सुशांत लोक के लोगों को होगा। अंसल इंस्टीटय़ूट के छात्रों की भी मौज हो जाएगी।

हुडा के प्रशासक डा. प्रवीण कुमार ने बताया कि हुडा ने रैपिड मेट्रो के सेकेंड फेज के लिए टेंडर जारी कर दिया है। टेंडरिंग की प्रक्रिया अगले महीने तक पूरी हो जाएगी। फाइनेंशियल क्लोजर के लिए टेंडर हासिल करने वाली कंपनी को छह महीने का वक्त लग सकता है। इसके बाद रैपिड मेट्रो के सेंकेंड फेज पर काम शुरू हो जाएगा। साल की अंतिम तिमाही में रैपिड मेट्रो के सेकेंड फेज पर काम शुरू हो सकता है। इस फेज में डीएलएफ फेज वन, सेक्टर-42 क्रॉसिंग, ब्लेयर बिल्डिंग, सेक्टर 53-54, एआईटी चौक, सेक्टर-56 पर रैपिड मेट्रो के स्टेशन बन सकते हैं। रैपिड मेट्रो के दूसरे चरण में छह मेट्रो स्टेशन सिकंदरपुर से सेक्टर-56 के बीच बनेंगे। सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन इंटरचेंज स्टेशन का काम करेगा। इससे रैपिड मेट्रो के पहले चरण में बन रहे डीएलएफ फेज-2, डीएलएफ फेज-3, मॉल ऑफ इंडिया, गेटवे टावर, बेलवेडेयर टावर जुड़ेंगे। साथ ही फेज टू में प्रस्तावित डीएलएफ फेज वन, सेक्टर-42 क्रॉसिंग, ब्लेयर बिल्डिंग, सेक्टर 53-54, एआईटी चौक, सेक्टर-56 के स्टेशनों से चढ़ने वाले यात्राी भी सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन पर इंटरचेंज कर दिल्ली मेट्रो की सवारी कर सकेंगे। रैपिड मेट्रो के दूसरे फेज से जुड़ रहे क्षेत्रों में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की कमी बड़ी समस्या है। सेक्टर-56 गोल्फ कोर्स एक्सटेंशन में सबसे ज्यादा हाउसिंग प्रोजेक्ट प्रस्तावित हैं। इस लाइन पर डीएलएफ सहित पांच स्टेशनों को सिकंदरपुर से जोड़ने वाले पहले चरण की रैपिड मेट्रो से भी ज्यादा सवारियां होने का अनुमान है। रैपिड मेट्रो के इस फेज से सिटी ट्रांसपोर्ट की हालत भी सुधरेगी। हुडा के कई सेक्टरों से एमजी रोड की आसान कनेक्टिविटी होने से मॉल्स की चांदी भी हो जाएगी।

इन जगहों पर स्टेशन बनना तय :
डीएलएफ फेज वन
सेक्टर-42 क्रॉसिंग
ब्लेयर बिल्डिंग (सुशांत लोक)
सेक्टर 53-54
एआईटी चौक
सेक्टर-56

सिकंदरपुर में मिलेगी रैपिड व दिल्ली मेट्रो :
सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन इंटरचेंज स्टेशन का काम करेगा। इससे रैपिड मेट्रो के पहले चरण में बन रहे डीएलएफ फेज-2, डीएलएफ फेज-3, मॉल ऑफ इंडिया, गेटवे टावर, बेलवेडेयर टावर जुड़ जाएंगे। साथ ही फेज टू में प्रस्तावित डीएलएफ फेज वन, सेक्टर 42 क्रॉसिंग, ब्लेयर बिल्डिंग, सेक्टर 53-54, एआईटी चौक, सेक्टर-56 के स्टेशनों से चढ़ने वाले यात्री भी सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन पर इंटरचेंज कर दिल्ली मेट्रो की सवारी कर सकेंगे। रैपिड मेट्रो स्टेशन के दोनों फेज के लिए सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन इंटरचेंज स्टेशन का काम करेगा। जहां से दिल्ली मेट्रो की सवारी का लाभ यात्रियों को मिलेगा।

इसी बीच तीसरे फेज पर भी हो सकता है काम शुरू :
तीसरे फेज में गेटवे टॉवर और माल ऑफ इंडिया के बीच से नया ट्रैक जोड़ा जा सकता है, जो हाईवे को पार करता हुआ मारुति कंपनी के नजदीक जाएगा। इससे उद्योग विहार, ओल्ड दिल्ली रोड, मारुति कंपनी के कर्मचारियों को फायदा होगा। इस रूट पर भी मारुति के नजदीक रैपिड मेट्रो और डीएमआरसी की एयरपोर्ट मेट्रो का इंटरचेंज स्टेशन प्रस्तावित है। रैपिड मेट्रो लाइन, इफको चौक से एयरपोर्ट तक जाने वाली लाइन से मारुति के नजदीक बनने वाली लाइन पर ही मिलेगी।

इनकी हो जाएगी मौज :
रैपिड मेट्रो के दूसरे फेज के शुरू होने के बाद इसका सीधा फायदा डीएलएफ के फेज वन और फोर, सेक्टर 27, 28, 42, 43, 53, 54, 55,56, सुशांत लोक के लोगों को होगा। अंसल इंस्टीटय़ूट के छात्रों की भी मौज हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रैपिड मेट्रो के दूसरे फेज का रास्ता साफ