DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधायकों पर कसेगा शिकंजा

नोट फॉर वोट प्रकरण में राज्य के कुछ विधायकों पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू हो गई है। शुक्रवार को जिस इनोवा से 2.15 करोड़ रुपए जब्त किए गए उसमें 14 लोगों के नाम की पर्ची भी थी। इन नामों के आगे अलग-अलग लोगों के नाम लिखे गए हैं, जिसमें 11 विधायकों के भी नाम हैं।

एक व्यापारिक संगठन का नाम भी उस पर्ची में लिखे होने की बात सामने आई है। उधर, राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील ने शनिवार को चुनाव आयोग की सिफारिश पर मुहर लगाते हुए झारखंड में राज्यसभा चुनाव रद्द कर दिया। अब नए सिरे से चुनाव प्रक्रिया शुरू होगी।

विधायकों और अग्रवाल से होगी पूछताछ
आयकर विभाग राज्यसभा के निर्दलीय प्रत्याशी आरके अग्रवाल से पूछताछ की तैयारी में जुट गया है। उनके साथ ही उन 11 विधायकों से भी पूछताछ की जाएगी, जिनके नाम नोटों के साथ पकड़े गए हैं। पूछताछ के लिए सभी को सम्मन जारी किया जाएगा।

अगले सप्ताह सम्मन जारी हो सकता है। इसके लिए आयकर विभाग की रांची टीम दिल्ली से संपर्क में है। चर्चा में ये बात सामने आई है कि जो जब्त पैसे हैं, उसका संबंध कहीं न कहीं निर्दलीय प्रत्याशी आरके अग्रवाल से है। हालांकि अग्रवाल शुक्रवार को ही इंकार कर चुके हैं।

प्रस्तावकों से भी होगी पूछताछ
आरके अग्रवाल के प्रस्तावकों से भी पूछताछ करने की तैयारी चल रही है। जांच का दायरा बढ़ा, तो पवन कुमार धूत के प्रस्तावकों तक भी मामला पहुंच सकता है। हालांकि प्रथम चरण में आरके अग्रवाल के प्रस्तावकों से ही आयकर विभाग पूछताछ करने पर विचार कर रहा है। झामुमो के दस विधायक प्रस्तावक बने थे।

कौन-कौन बना था प्रस्तावक
विद्युत वरण महतो, लोबिन हेम्ब्रम, रामदास सोरेन, अकील अख्तर, साइमन मरांडी, नलिन सोरेन, सीता सोरेन, दीपक बिरूआ, जयप्रकाश भाई पटेल।
चुनाव आयोग ने तारीफ की

चुनाव आयोग ने आयकर विभाग की रांची टीम को बधाई पत्र भेजा है। पत्र में नामकुम में इनोवा गाड़ी से नोटों के बंडल जब्त किए जाने की सराहना की गई है। साथ ही आयकर की पूरी टीम की प्रशंसा की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधायकों पर कसेगा शिकंजा