DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतराराष्ट्रीय नदियों से होने वाली तबाही की भरपाई केन्द्र करे

पटना (हि.ब्यू.)। बिहार ने कहा है कि अंतराराष्ट्रीय नदियों से होने वाली तबाही की भरपाई केन्द्र करे। राष्ट्रीय जल विकास अभिकरण (एनडब्ल्यूडी) की बैठक में सूबे के जल संसाधन मंत्री विजय कुमार चौधरी ने यह मांग रखी। उन्होंने कहा कि हर वर्ष नेपाल से आने वाली कोसी, गंडक, कमला, बागमती, अधवारासमूह आदि नदियां उत्तर बिहार में भारी तबाही मचाती हैं।

यह स्थापित मान्यता है कि अंतरराष्ट्रीय कारणों से अगर कोई परेशानी होती है कि केन्द्र उसे वहन करता है। फिर बिहार के मामले में ऐसा क्यों नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसी योजनाओं के लिए केन्द्र और राज्य के बीच 75 व 25 का अनुपात नहीं हो सकता।बैठक में बिहार की तमाम योजनाओं पर चर्चा हुई। नदियों को जोड़ने से सम्बद्ध कार्रवाई में बिहार सबसे आगे है।

दो योजनाओं बूढ़ी गंडक-नून वाया गंगा व कोसी-मेची लिंक के कार्यान्वयन पर अपेक्षित प्रगति हुई है। इसके अलावा छह अन्य परियोजनाओं के संबंध में विमर्श किया गया। मंत्री ने इस वर्ष जून तक इसका डीपीआर तैयार करवाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि राज्य में सिंचाई और बाढ़ प्रबंधन प्रक्षेत्र में अगले चार-पांच वर्षो में योजनाओं के कार्यान्वयन में एनडब्ल्यूडी की विशेष भूमिका होगी।

ऐसे में एनडब्ल्यूडी के राज्य कार्यालय को अधिक सुदृढ़ बनाने, आवश्यकतानुसार तकनीकी पदाधिकारियों की तैनाती व दो अतिरिक्त डिवीजन की जरूरत है। श्री चौधरी ने त्वरित सिंचाई लाभ योजना (एआईबीपी) के मौजूदा प्रावधान को बिहार के संदर्भ में शिथिल करने का अनुरोध किया। इस समय एक योजना पूरी होने के बाद दूसरे के लिए सहायता मिलती है।

मंत्री ने कहा कि बिहार बाढ़-सुखाड़ से परेशान राज्य है और यहां काम के लिए पांच माह का ही समय मिलता है। ऐसे में बिहार को विशेष सहायता की दरकार है। बैठक के बाद चौधरी ने केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री पी.के. बंसल से अलग से मुलाकात कर बिहार की सिंचाई व बाढ़ प्रबंधन क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण के लिए विशेष ध्यान देने का अनुरोध किया।

उन्होंने बताया कि दो दशक से अधिक समय से इन्द्रपुरी जलाशय योजना यूपी व झारखंड सरकार से सहमति के अभाव में बाधित है। उन्होंने शीघ्र समन्वय स्थापित कर योजना को स्वीकृति दिलाई जाए।

चौधरी को केन्द्र ने किया आमंत्रित

केन्द्रीय जल संसाधन मंत्रालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय जल सप्ताह में बिहार के जल संसाधन मंत्री विजय कुमार चौधरी भी शिरकत करेंगे। केन्द्र ने 9 से 14 अप्रैल तक आयोजित इस कार्यक्रम में उन्हें विशेष रूप से आमंत्रित किया है। इस समारोह में 42 देशों के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंतराराष्ट्रीय नदियों से होने वाली तबाही की भरपाई केन्द्र करे