DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्रेन टय़ूमर को रोकेगा पोलियो विषाणु

हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा भारत को पोलियो मुक्त देश की श्रेणी में स्थान दिया गया है। वहीं स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ न्यूयॉर्क के शोध वैज्ञानिकों ने पोलियो विषाणु को पालतू बना कर उससे ब्रेन टय़ूमर पर रोक लगाने में सफलता प्राप्त की है। शोधकर्ता डॉ़ मैथियास ग्रेमियर की रिपोर्ट के अनुसार शोधकर्ताओं ने पोलियो विषाणु में आनुवांशिक सुधार कर इसे इस हद तक पालतू बना लिया है कि वह उनके इशारे पर मस्तिष्क में बढ़ती गांठ यानी ब्रेन टय़ूमर पर रोक लगाने में मदद करता है।

पोलियो विषाणु के हमला करने की रणनीति का अध्ययन करने पर पाया गया है कि यह नन्हा मगर खतरनाक विषाणु तंत्रिका कोशिकाओं पर घुसपैठ कर रोगों को जन्म देता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए विषाणु के प्रवेश पर अध्ययन किया गया। विषाणु से नुकसान पहुंचाने वाले जीन को निकाला गया और उसे जुकाम के वायरस में पहुंचा दिया गया। इस तरह पोलियो विषाणु में रोग फैलाने की क्षमता समाप्त हो गई। परीक्षण के तौर पर इसे चूहों के मस्तिष्क की ओर भेजा गया, जो ब्रेन ट्यूमर से प्रभावित थे। असल में यह चूहे ह्यूमेन ग्लाओब्लास्टोमा की चपेट में थे, जो ब्रेन ट्यूमर के लिए जिम्मेदार होते हैं। जब आनुवांशिक रूप से सुधरे विषाणुओं को इंजेक्शन द्वारा अंदर पहुंचाया गया तो वह तत्काल हरकत में आ गया और उसने टय़ूमर कोशिकाओं की वृद्घि पर रोक लगा दी। मात्र दो सप्ताह में ही चूहों में सुधार के लक्षण सामने आ गए। शोधकर्ताओं का मानना है कि इस सफलता ने मानव मस्तिष्क में तेजी से फैलते टय़ूमर पर काबू पाने की आशा जगाई है।

इस शोध की मानव पर सफलता की पुष्टि करते हुए हस्टन स्थित एंडरसन कैंसर सेंटर के डॉ़ एरिक होलेंड कहते हैं, ‘शोध फिलहाल मानव में ब्रेन टय़ूमर की सूचना देने में तो सक्षम है ही, कल उस पर काबू पाने में भी मददगार साबित होगा।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ब्रेन टय़ूमर को रोकेगा पोलियो विषाणु