DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उप्र कांग्रेस अध्यक्ष की सीबीआई जांच की मांग खारिज

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी के लखनऊ स्थित आवास में करीब ढाई साल पहले हुई आगजनी और तोड़फोड़ की घटना की सीबीआई से जांच कराने के आग्रह वाली याचिका मंगलवार को खारिज कर दी।

न्यायमूर्ति श्रीनारायण शुक्ला तथा न्यायमूर्ति सुरेन्द्र विक्रम सिंह राठौर की खंडपीठ ने यह फैसला रीता की याचिका पर सुनाया। विदित हो कि 15 जुलाई 2009 की रात रीता के लखनऊ स्थित आवास में आगजनी तथा तोड़फोड़ की घटना हुई थी।

हालांकि उस समय वह घर पर में नहीं थीं। इस घटना की विवचेना पहले स्थानीय पुलिस ने की लेकिन बाद में इसे राज्य सरकार की ही जांच एजेंसी सीबीसीआईडी के सुपुर्द किया गया था।

राज्य सरकार की एजेंसी द्वारा की जा रही विवेचना से संतुष्ट नहीं होकर रीता ने इस मामले की तफ्तीश सीबीआई से कराए जाने का अनुरोध करते हुए यह याचिका दायर की थी जिस पर करीब दो साल से सुनवाई चल रही थी। इस मामले में इसी माह अदालत ने सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित कर लिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उप्र कांग्रेस अध्यक्ष की सीबीआई जांच की मांग खारिज