DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुडनकुलम परियोजना के खिलाफ चेन्नई में अनशन

तमिलनाडु सरकार की ओर से 1,000 मेगावाट की कुडनकुलम परमाणु बिजली परियोजना (केएनपीपी) को दी गई स्वीकृति वापस लिए जाने सहित अन्य मांगों को मनवाने के लिए इडिंथाकरई में 15 लोग अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल कर रहे हैं।

परमाणु बिजली संयंत्र का विरोध कर रहे पीपल्स मूवमेंट अगेंस्ट न्यूक्लीयर एनर्जी (पीएमएएनई) ने मंगलवार को एक वक्तव्य जारी कर गिरफ्तार लोगों को तुरंत रिहा किए जाने, तमिलनाडु मंत्रिमंडल की ओर से सोमवार को केएनपीपी को दी गई स्वीकृति वापस लिए जाने, कुडनकुलम के आसपास के इलाके का भूवैज्ञानिक, जलवैज्ञानिक व समुद्रवैज्ञानिक अध्ययन कराने, रिएक्टर की सुरक्षा, भारत व रूस के बीच अंतर-सरकारी करार (आजीए) जारी किए जाने व कुडनकुलम परियोजना के 30 किलोमीटर के दायरे में सुरक्षा व निकासी अभ्यास करने की मांग की।

पीएमएएनई ने कहा कि सोमवार की रात महिलाओं, पुरुषों व बच्चों सहित करीब 5,000 लोग इडिंथाकरई में सेंट लॉर्डस चर्च के आसपास सोए थे।

पीएमएएनई के मुताबिक यहां से 650 किलोमीटर दूर स्थित तिरुनेलवेली जिले में कुडनकुलम के आसपास से पुलिस ने 210 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है।

कुडनकुलम में एक पुलिस अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि गिरफ्तार लोगों में पीएमएएनई नेता एस. शिवसुब्रमण्यम व राजालिंगम को सोमवार को गिरफ्तार किया गया। दोनों पर राजद्रोह का आरोप लगाकर उन्हें तिरुनेलवेली ले जाया गया।

पीएमएएनई ने बताया कि पुलिस ने कुडनकुलम में व उसके आसपास के इलाकों में निषेधाज्ञा लागू कर दी है और लोगों को नौकाओं के लिए इडिंथाकरई आना पड़ रहा है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुडनकुलम परियोजना के खिलाफ चेन्नई में अनशन