DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आओ मिलें कंप्यूटर से..

कंप्यूटर का नाम सुनते ही तुम सब के चेहरे ऐसे खिल जाते हैं, मानो अलादीन का चिराग तुम्हारे हाथों में आ गया हो। सच, अलादीन के चिराग जैसा ही तो है यह। इससे हमारा काम कितना आसान हो जाता है न। जिस युग में हम अभी हैं, इसे कंप्यूटर युग के नाम से जाना जाता है। हमारे छोटे से छोटे काम के पीछे इसकी बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका है।
 
किसने खोजा कंप्यूटर
कंप्यूटर की खोज ने हमारी जिंदगी में बड़ा बदलाव ला दिया है। वैसे तो इसकी खोज की शुरुआत अबैकस के रूप में 2,000 साल पहले ही हो गई थी। इसमें लगे मोतियों के सहारे गणित के कैलकुलेशन आसानी से हल किए जाते थे। सबसे पहले 1822 ई. में चार्ल्स बैबेज ने डिफरेंशियल इंजन का आविष्कार किया तथा 1837 ई. में एनालिटिकल इंजन का अविष्कार किया, जो कि पूरा न हो सका। कहा जाता है की तभी से आधुनिक कंप्यूटर की शुरुआत हुई। इसलिए चाल्र्स बैबेज को कंप्यूटर का जनक कहा जाता है।

ऐसे करता है काम
इसके दो महत्वपूर्ण हिस्से होते हैं। पहला हार्डवेयर दूसरा सॉफ्टवेयर। हार्डवेयर में कंप्यूटर के वो सब हिस्से आते हैं, जिन्हें तुम देख और छू सकते हो जैसे- मॉनिटर, की-बोर्ड, डीवीडी, सीडी, सीपीयू, माउस, पेनड्राइव आदि। सॉफ्टवेयर की मदद से हम कोई प्रोग्राम चलाते हैं। उदाहरण के लिए तुम्हें अपने कंप्यूटर पर फिल्म देखनी है तो तुम उसमें मीडिया प्लेयर का सॉफ्टवेयर डालोगे और बड़ी आसानी से कार्टून फिल्म देख लोगे। इन दोनों के अलावा तुम्हारे कंप्यूटर के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम अति आवश्यक वस्तु होगी। इसके बिना कोई भी सॉफ्टवेयर काम नहीं कर पाएगा।

इसके कई हैं रूप
डेस्कटॉप, लैपटॉप और टैबलेट भी कंप्यूटर ही है।

फायदे हैं कई

आसानी से कर सकते हो कैलकुलेशन
ड्राइंग के लिए भी है पेंट ब्रश का ऑप्शन
एजुकेशनल सॉफ्टवेयर के उपयोग से कर सकते हो ढेरों काम। जैसे आर्ट वर्क, कहानियों का निर्माण आदि
इंटरनेट के खजाने से मिलेगा ज्ञान
फोटोशॉप की मदद से बना सकते हो अपनी फोटोग्राफ और भी सुंदर

किन बातों का रखोगे ख्याल
कंप्यूटर पर काम करते वक्त सेव करते रहो, वरना तुम्हारा डाटा खो जाएगा।
कंप्यूटर बंद करने से पहले चल रहे सारे प्रोग्राम्स को उचित रूप से बंद कर लो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आओ मिलें कंप्यूटर से..