DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सप्ताह के व्रत-त्योहार (20 मार्च से 26 मार्च)

20 मार्च (मंगलवार)
पंचक चालू है। मास शिवरात्रि व्रत। वारुणी पर्व योग प्रात: 6 बजकर 50 मिनट से सायं 5 बजकर 32 मिनट तक। काशी में गंगा वरुणासंगम पर स्नान। महाविष्णु दिवस। सूर्य उत्तर गोल प्रवेश। मधु कृष्ण त्रयोदशी राष्ट्रीय शक वर्ष समाप्ति दिवस।
21 मार्च (बुधवार)
पंचक चालू है। राष्ट्रीय चैत्र मास प्रारम्भ। शक संवत 1934 प्रारम्भ।
22 मार्च (बृहस्पतिवार)
पंचक चालू हैं। स्नान दान श्रद्धादि की अमावस्या। मन्वादि अमावस्या। विक्रम संवत 2058 समाप्त। अन्वाधान।
23 मार्च (शुक्रवार)
चैत्र शुक्ल पक्ष प्रारम्भ। विक्रम संवत 2069 प्रारम्भ।  संकल्पादि में प्रयोजनीय, विश्वाबसु नामक संवतसर प्रारम्भ। वासंतिक नवरात्र आरम्भ। धर्मघटादि दान। साम्यंग स्नान। चैत्र शुक्लादि (गुड़ी पाड़वा) कल्पादि विधाव्रत प्रतिपदा। आरोग्य व्रत प्रतिपदा। चैतीचांद (सिन्धी नववर्ष दिवस)। तेलुगु नववर्ष दिवस।
24 मार्च (शनिवार)
पंचक समाप्त सायं 3 बजकर 11 मिनट पर। सिंधारा चेटी चंदर (सिंधी) श्री झूलेलाल जयंती।
25 मार्च (रविवार)
गणगौरी तृतीया व्रत। सौभाग्य तृतीया। ईश्वर तृतीया। मनोरथ तृतीया। गणगौरी शक्ति पूजन। मन्वादि तृतीया। श्री मत्स्यावतार अपराह्न् में सरहुत (बिहार) आन्दोलन तृतीया।
26 मार्च (सोमवार)
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सप्ताह के व्रत-त्योहार (20 मार्च से 26 मार्च)