DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांदा में शिक्षक की मौत पर उपद्रव, लाठीचार्ज

शहर कोतवाली क्षेत्र के अतर्रा चुंगी के पास सोमवार की सुबह ट्रक की चपेट में आने से शिक्षक की मौत पर बवाल हो गया। आक्रोशित लोगों ने आठ ट्रकों को आग के हवाले कर दिया। पांच दजर्न ट्रकों का शीशा तोड़ दिया। भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस ने तीन बार लाठियां बरसाईं।

उपद्रवियों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की और पथराव भी किया। पांच घंटे तक पुलिस और उपद्रवियों के बीच गुरिल्ला युद्ध चलता रहा। बल प्रयोग करने के बाद ही पुलिस शव को कब्जे में ले सकी। लाठीचार्ज और पत्थरबाजी में कई लोग जख्मी हो गए।

बलखण्डी नाका निवासी निर्भय सिंह शिवहरे सरस्वती विद्यामंदिर में गणित के शिक्षक थे। सोमवार की सुबह वह बाइक से परीक्षा डय़ूटी करने विद्यालय जा रहे थे। सुबह करीब 6 बजकर 50 मिनट पर अतर्रा चुंगी के पास पहुंचे तो पीछे से आ रही ईंट लदी ट्रक ने रौंद दिया।

घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। हादसे के बाद चालक ट्रक लेकर वहां से भाग गया। दर्दनाक हादसा देख स्थानीय लोग बेकाबू हो गए। मौके पर पहुंचे स्कूली बच्चों ने ट्रकों का शीशा तोड़ना शुरू कर दिया। पुलिस के सामने ही ट्रक संख्या यूपी 78 बीजे 2397 को आग के हवाले कर दिया। एसपी लव कुमार और एएसपी श्रीपति मिश्र ने समझाने की कोशिश की, लेकिन उपद्रवी नहीं माने।

पुलिस के खिलाफ न सिर्फ नारेबाजी की, बल्कि आठ ट्रकों को भारी सुरक्षा बल के सामने ही फूंक दिया। पुलिस के बल प्रयोग करने से बौखलाए लोगों ने पत्थरबाजी करके गुस्सा निकाला। ट्रकों में आग लगाने के बाद भीड़ ने दमकल को जाने से भी रोक दिया। एक दमकल का शीशा भी तोड़ दिया गया।

पूर्व विधायक राजकुमार शिवहरे और भाजपा नेता अशोक त्रिपाठी जीतू भी मौके पर पहुंचे। एसपी और पूर्व विधायक में भी हलकी नोकझोंक हुई। भीड़ का गुस्सा सिर्फ ओवरलोडिंग के खिलाफ था। राजकुमार शिवहरे ने आरोप लगाया कि पुलिस और प्रशासन की मिलीभगत से रिश्वत लेकर ओवरलोड वाहन चलवाए जा रहे हैं। यही दुर्घटना का सबब बन रहे हैं।

निर्भय सिंह शिवहरे के भाई लखन और रामहित की मांग थी कि जब तक ट्रक नहीं पकड़ा जाता जाम नहीं खोलेंगे। 11.19 बजे भीड़ ने तीसरी बार ट्रक में आग लगाई तो पुलिस ने लाठी भांजकर शव को कब्जे में ले लिया। निर्भय सिंह शिवहरे के घरवालों का रोते-रोते बुरा हाल था।

वह ट्रक चालक की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। डीआईजी मुथा अशोक जैन ने कहा कि घटनाएं तो अक्सर होती रहती हैं। ओवरलोडिंग की वजह जनता का आक्रोश फूटा। बालू माफियाओं की बिगड़ी आदतों को  सुधारने में थोड़ा समय लगेगा। अमल नहीं किया गया तो ऐसी घटनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता। एसपी लव कुमार ने कहा कि ओवरलोडिंग पर शिकंजा कसा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बांदा में शिक्षक की मौत पर उपद्रव, लाठीचार्ज