DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपराधी जेल में होंगे या यूपी छोड़कर भागेंगे : डीजीपी

प्रदेश के नवनियुक्त डीजीपी ए.सी.शर्मा ने सोमवार को प्रदेश पुलिस की कमान संभाल ली। उन्होंने कहा कि पुलिस राजनीतिक दबाव में काम नहीं करेगी और गुंडा चाहे किसी भी दल का हो, सख्त कार्रवाई होगी।

सज्जनों और राजनीतिक दलों के नेताओं की उचित अपेक्षाओं की सुनवाई होगी लेकिन अनुचित कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं होंगे। अपराधी जेल में जाएंगे या फिर प्रदेश छोड़कर भाग जाएंगे। उन्होंने कहा कि अपराध रोकना, अपराध का खुलासा और कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करना प्राथमिकता होगी। दस दिन के भीतर वांछित अपराधियों की नई सूची बनाई जाएगी। पुलिस जवानों का कल्याण व प्रमोशन सवरेपरि होगा।

1977 बैच के आईपीएस ए.सी. शर्मा बीती रात डीजीपी नियुक्त होने के बाद आज सुबह 11.02 बजे प्रदेश पुलिस के मुखिया के कक्ष में पहुंचे। वहां पहले से मौजूद अपने सीनियर निवर्तमान डीजीपी अतुल को सलूट किया। हैंडशेक के बाद दस्तावेजों पर दस्तख्त किए और निवर्तमान डीजीपी अतुल ने साइड बदलते हुए उन्हें कुर्सी सौंप दी।

कुर्सी संभालने के बाद डीजीपी ए.सी. शर्मा एक सवाल के जवाब में बोले-राजनीतिक दल कोई भी हो, मैं संदेश देना चाहता हूं। गलत आचरण किसी का भी बर्दाश्त नहीं होगा। जायज बात सुनी जाएगी, त्वरित न्याय भी दिया जाएगा।कानून-व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए सख्ती भरे कदम उठाए जाएंगे।

पुलिस कर्मियों को ईमानदारी और चुस्ती से काम करना होगा। उनका कल्याण, प्रमोशन आदि महकमे में सवरेपरि होगा। गृह जनपद के करीब तैनाती की नई नीति के तहत सिपाहियों-मुख्य आरक्षियों के जल्द तबादले होंगे। पुलिस हर मामले में गुण-दोष के आधार पर कार्रवाई करेगी।

महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं तैनात :-1977 बैच के आईपीएस बतौर पुलिस कप्तान पहली तैनाती बरेली में हुई। फिर मऊ, शाहजहांपुर में एसपी रहने के बाद कानपुर में एसएसपी, लखनऊ, झांसी और सहारनपुर रेंज में डीआईजी रहने के साथ ही आईजी जोन बरेली, वाराणसी रहने के बाद वर्ष 2006-07 में एडीजी कानून-व्यवस्था भी तैनात रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अपराधी जेल में होंगे या यूपी छोड़कर भागेंगे : डीजीपी