DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेटेलाइट फोन के नेटवर्क से जोड़ेगा एनडीएमए

प्राकृतिक आपदाओं की स्थिति में प्रभावी संचार व्यवस्था के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण वैकल्पिक संचार व्यवस्था (इमरजेंसी कम्युनिकेशन सिस्टम) विकसित करेगा। इसके लिए सेटेलाइट की मदद ली जाएगी। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सदस्य बी.भट्टाचार्य ने बताया कि आमतौर पर प्राकृतिक आपदाओं के बाद संचार व्यवस्था ध्वस्त हो जाती है। इससे राहत और पुर्नवास के काम में बाधा आती है। सिस्टम के प्रभावी हो जाने से काफी राहत होगी।

वैकल्पिक संचार व्यवस्था के लिए प्रत्येक जिले में एक सेटेलाइट फोन जिलाधिकारी को दिया जाएगा। जिसका उपयोग वह प्राकृतिक आपदाओं के समय करेंगे। साथ ही सभी टेलीकॉम एजेंसियों से कहा गया है कि वह अपने कुछ प्रतिशत बैंडविथ इस लाइन के लिए सुरक्षित रखें। इसके लिए एनडीएमए भुगतान भी करेगा।

इसके पीछे सोच यह है कि आपदा के समय अगर एक भी एजेंसी का टॉवर काम करेगा तो कम्युनिकेशन की दिक्कत नहीं होगी। जिन टेलीकॉम एजेंसियों से बैंडविथ ली जाएगी, उस पर नजर रखी जायेगी कि वह इसका उपयोग किसी दूसरे कार्य में न करें। पूरे प्रोजेक्ट का डीपीआर केन्द्र सरकार को भेज दिया गया है। इसको विकसित करने में कुछ समय लगेगा।

भट्टाचार्य सोमवार को महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में आपदा प्रबंधन पर आयोजित सेमिनार में बतौर मुख्य अतिथि भाग लेने आए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेटेलाइट फोन के नेटवर्क से जोड़ेगा एनडीएमए