DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एजी कर्मियों को मिलेंगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं

काम के बोझ के कारण अत्यधिक तनाव का सामना कर रहे एजी ऑफिस के कर्मचारियों को जल्द ही कार्यालय परिसर में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलने लगेंगी। एजी प्रशासन ने नियंत्रक व महालेखा परीक्षक (कैग) को इस संबंध में प्रस्ताव भेजा है।

वित्तीय वर्ष 2012-2013 में सुविधाएं बढ़ने की उम्मीद है। प्रशासन ने परिसर में ऐलोपैथ, होम्योपैथ और आयुर्वेद के एक-एक डॉक्टर को मानदेय के आधार पर तैनात करने का सुझाव भेजा है। इसके अलावा योगा और व्यायाम की सुविधा बढ़ाने की अनुमति भी मांगी है।

परिसर में फिलहाल कोई स्वास्थ्य सुविधा नहीं है। यदि कोई कर्मचारी बीमार हो जाए तो उसे सेंट्रल गर्वनमेंट हेल्थ सर्विसेज (सीजीएचएस) से जुड़े केंद्र या निजी अस्पताल ले जाना पड़ता है। इलाहाबाद में नैनी, ड्रमंड रोड, प्रीतमनगर, लीडर रोड, कल्याणी देवी, जवाहर लाल नेहरू रोड और बैंक रोड में सीजीएचएस के केंद्र हैं। इनके अलावा संगम प्लेस में इसका दफ्तर और छोटा सा क्लीनिक है।

प्रस्ताव के मुताबिक परिसर में तैनात वाले डॉक्टर कर्मचारियों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के साथ परामर्श भी देंगे। इसके अलावा योगा और व्यायाम के लिए कुछ उपकरणों के लिए भी अनुमति मांगी है। कर्मचारियों का आरोप है कि पिछले तीन-चार साल में एजी ऑफिस के लगभग 44 कर्मचारियों की असमय मृत्यु हो चुकी है। ब्लड प्रेशर, शुगर और हायपरटेंशन की समस्या आम है।

24 फरवरी को कार्यालय के गेट बंद करके हाजिरी लेने को लेकर हुए बवाल के बाद दो मार्च की रात में एजी ऑफिस के वरिष्ठ लेखाकार गुलाब चंद्र सोनकर की मौत हो गई थी। इसके बाद सिविल एकाउंट्स एसोसिएशन (ब्रदरहुड) के उपाध्यक्ष और निलंबन का दंश ङोल रहे अनिल दास की तबीयत भी बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती करना पड़ा था।

कर्मचारियों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए कार्यालय परिसर में मानदेय के आधार पर तीन चिकित्सकों को तैनात करने की अनुमति एक महीने पहले मांगी गई थी। नए वित्तीय वर्ष में अनुमति मिलने की उम्मीद है।
मधुसूदन, डिप्टी एजी प्रशासन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एजी कर्मियों को मिलेंगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं