DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संगीनों के साए में शुरू हुआ रोड निर्माण

गिरिडीह लक्ष्मी। झारखंड से बिहार को जोड़नेवाले गिरिडीह जिले के तिसरी प्रखंड के चंदौरी से थानसिंगडीह रोड का निर्माण कार्य रविवार को संगीनों के साए में शुरू हो गया। इस रोड पर नक्सलियों के आतंक के कारण एक साल से रुका हुआ था। रविवार को रोड निर्माण कार्य शुरू होने के कारण सीआरपी और जैप के सैकड़ों जवान सुरक्षा के लिए मुस्तैद हैं।

हालांकि गिरिडीह एसपी आमोल वी होमकर ने सीधे तौर पर कुछ नहीं स्वीकारा, पर कहा कि पुलिस उस इलाके में बिहार की पुलिस से मिलकर ऑपरेशन चला रही है। रोड निर्माण में लगी एजेंसी वहां काम कर रही है। इस रोड निर्माण की लागत लगभग 18 करोड़ है।

एक साल पूर्व चंदौरी से थानसिंगडीह तक रोड निर्माण शुरू हुआ था, लेकिन कर्माटांड़ के आगे एजेंसी काम कराने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही थी। वह 12 किमी का पूरा इलाका अघोषित रूप से नक्सलियों के प्रभाव वाला माना जाता है।

कम हो जाएगी बिहार के कई इलाकों की दूरी : बता दें कि अभी जो लोग जिले से बिहार के जमुई या नवादा जाने के लिए भाया चकाई या कोडरमा का इस्तेमाल करते हैं, इस रोड के बन जाने से लोकाय नयनपुर, सेवाटांड़, नारोटांड़, कारीपहरी और थानसिंगडीह होते हुए कम समय में बिहार प्रवेश कर जाएंगे।

बिहार जानेवाले लोग घूमने से बचेंगे। बाबूलाल ने डीजीपी व मुख्य सचिव को लिखा था पत्रपूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने चार मार्च को मुख्य सचिव व डीजीपी को पत्र लिखकर इस रोड को बनाने का आग्रह किया था। उन्होंने पत्र में चेताया भी था कि अगर 18 मार्च तक काम शुरू नहीं हुआ तो, वे 19 मार्च से कर्माटांड़-थानसिंगडीह पर ही शिविर लगा देंगे।

समझा जाता है कि इस धमकी के बाद भारी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच काम चालू कराया गया है। सांसद प्रतिनिधि रामचन्द्र ठाकुर ने बताया कि यह सड़क झारखंड और बिहार के लिए लाइफ लाइन है। इस सड़क के बनने से दर्जनों गांव के ग्रामीणों को लाभ होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संगीनों के साए में शुरू हुआ रोड निर्माण