DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले चेत जाएं

किसी के चेहरे पर तो लिखा नहीं होता कि वह चोर, डाकू, बदमाश है। कस्बों और छोटे शहरों में अब भी किसी को पहचानना संभव है। पर दिल्ली को जिस तरह दूसरे शहरों से आए लोगों की छोटे-बड़े कामों के लिए जरूरत होती है, उसमें पुलिस वेरिफिकेशन बड़ा कारगर हथियार है।

फिर भी घरों में नौकर, ड्राइवर, सहायक रखते समय इसे अपनाने से पता नहीं क्यों, लोग खुद ही आनाकानी करते हैं। बाद में उनके पास रोने के सिवा कोई विकल्प नहीं रहता। यह ठीक है कि वेरिफिकेशन में वक्त लगता है। लेकिन, जरा-सी लापरवाही से लाखों-करोड़ों की चपत ङोलने या जान दांव पर लगाने से तो यह बेहतर है। सतर्कता बरतने में क्या परेशानी?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहले चेत जाएं