DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बढ़े सेवाकर के विरोध में सर्राफा बाजार रहा बंद

मथुरा। निज संवाददाता

केन्द्र सरकार द्वारा सर्राफा व्यवसाय पर लगाए गए सेवाकर एवं बढ़ाई गई एक्साइज ड्यूटी के विरोध में अखिल भारतीय सर्राफा संघ एवं उ.प्र. सर्राफा एसोसिएशन के आह्वान पर रविवार को सर्राफा व्यवसाइयों ने बाजार बंद रखा। सर्राफा व्यवसासियों ने होलीगेट पर वित्तमंत्री एवं केंद्र सरकार का पुतला भी दहन किया। सभी अपने प्रतिष्ठान बंद कर नगर में भ्रमण करते रहे। राष्ट्रीय संगठन के आह्वान में आवाज मिलाते हुए श्री सर्राफा कमेटी मथुरा ने रविवार को सम्पूर्ण व्यवसाय बंद रखा। सरकार की गलत नीतियों का पुरजोर विरोध करने का संकल्प लिया। होलीगेट, कृष्णानगर, धौली-प्याऊ, सदर आदि क्षेत्रों में सभी दुकाने बंद रहीं। कमेटी के अध्यक्ष जगदीश बंसल ने कहा कि सरकार ने सर्राफा व्यवसाय पर 12 प्रतिशत सेवा कर लगाया है।

इसका सीधा प्रभाव आम उपभोक्ता पर पड़ेगा। इस कारण उपभोक्ता को ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे। आवश्यक जेवरात पर भी मूल्य बढ़ जाएगा। इसके अलावा सर्राफा व्यवसाय करने वाले लोगों पर सेवा कर विभाग की नजर रहेगी। इससे भ्रष्टाचार तो बढ़ेगा साथ ही अपराध भी बढ़ेगा। कमेटी के पूर्वमंत्री सूरजभान सर्राफ ने कहा कि सरकार की दमनकारी नीति बर्दास्त नहीं की जाएंगी। सन 1963 में लगे कानूनों की पुनरावृत्ति केंद्र सरकार कर रही है। जिस नीति का उस समय पूरे देश में जम कर विरोध किया गया था और सरकार को झुकना पड़ा था।

उपाध्यक्ष भीकचंद बंसल ने कहा कि सरकार की नीतियों के विरोध में व्यवसायियों को आंदोलन करना पड़ेगा। होलीगेट पर वित्तमंत्री का पुतला दहन किया गया। शैलेष अग्रवाल ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों को बर्दास्त नहीं किया जाएगा। मोहन लाल ने कहा कि सरकार चुनाव के समय वायदे कर के जनता को बेवकूफ बना रही हैं। सरकार टैक्स बढ़ाकर व्यापार को चौपट करने में लगी हैं। इस दौरान गिर्राज प्रसाद, सुभाष चंद, अनूप, सर्वेश, सतीशचंद, राज नारायण, अक्षया,चिराग, मुरारीलाल, कंहैयालाल, जौली, पिंटू, रितेश, सुनील अग्रवाल, दीपक, आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बढ़े सेवाकर के विरोध में सर्राफा बाजार रहा बंद