DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिनदहाड़े चार बदमाशों ने घर पर धावा बोला

पॉश इलाके ग्रेटर कैलाश में शुक्रवार दिनदहाड़े चार बदमाशों ने बंदूक के बल पर एक घर में धावा बोल दिया। बदमाशों ने घर में मौजूद छह लोगों को बंधक बना लिया। इनमें दो महिलाएं और बच्चे भी थे। बदमाशों ने घर के लोगों से चाबी ले ली और नगदी और ज्वेलरी लूट ली। इसी दौरान पीड़ितों ने विरोध शुरू किया तो बदमाशों ने मारपीट शुरू कर दी। घर में शोरशराब होता देख लोग बाहर निकल आए तो बदमाश सामान छोड़ कर भाग गए। पुलिस ने इस संबंध में लूट के प्रयास का केस दर्ज किया है। इस वारदात के बाद घर का कुक इमरान गायब है। बताया जाता है कि उसका वेरीफिकेशन नहीं हुआ था। 
पुलिस के अनुसार एस-182 ग्रेटर कैलाश में राज खरबंदा अपने पति अशोक खरबंदा के साथ रहती हैं। परिवार में अशोक के भाई का परिवार और मां भी रहती हैं। शुक्रवार शाम चार बजे घर में राज खरबंद, उनकी देवरानी, सास और बच्चाे घर में मौजूद थे। इसी दौरान बंदूकधारी चार बदमाश घर में घूस गए और राज खरबंदा से अलमारी की चाबी, नकदी और ज्वेलरी की मांगी। इस पर घर के लोग विरोध करने लगे तो बदमाशों ने हाथापाई शुरू कर दी। इसके बाद घरवालों ने डर के नगदी, ज्वेलरी और चाबी बदमाशों को सौंपी दी। अशोक खरबंदा के अनुसार शोरमचाने के चलते बदमाश भाग गए। हालांकि उन्होंने लूटा गया माल मौके पर ही छोड़ दिया।

कुक पर शक
अशोक खरबंदा ने इस वारदात का शक अपने कुक पर जाहिर किया है। वारदात करने आए बदमाशों में कुक इमरान भी शामिल था। इस वारदात के बाद से उसका कुछ अतापता नहीं है। वेरीफिकेशन नहीं होने के चलते पुलिस को इमरान को खोजने में दिक्कत हो रही है। हालांकि खरबंदा फैमिली ने इमरान की फोटो और उससे से संबंधित की जरूरी जानकारी पुलिस को दे दी हैं। 

चोरी में ड्राइवरगिरफ्तार
पॉश इलाके ग्रेटर कैलाश में गुरुवार दिनदहाड़े एक विधवा के घर से लाखों की ज्वेलरी चोरी होने का मामला सामने आया है। महिला ने इस मामले में अपने पार्ट टाइम ड्राइवर पर शक जाहिर किया था। वेरिफिकेशन होने के चलते पुलिस ने आरोपी को 24 घंटे में गिरफ्तार कर लिया।


पुलिस के अनुसार आर-29 ग्रेटर कैलाश में सुरेंद्र कौर रहती हैं। उन्होंने अपने ड्रोवर में डायमेंड से बने कान के बूंदों के दो सैट, एक गोल्ड की चेन और आठ सोने के कंगन रखे थे।  15 गुरुवार की रात उन्होंने अपना ड्रोवर जांचा तो ज्वेलरी गायब थी। सुरेंद्र कौर के अनुसार आखिरी व्यक्ति जो उनसे मिलने आया था वह उनका ड्राइवर था। ड्राइवर को ही घर में आने-जाने की इजाजत थी।

नौकरों ने की वारदातें(2011)

08 अप्रैल: मियांवली में कारोबारी व उसके परिवार को नशीला खिलाकर लाखों का माल लेकर नौकर फरार।


29 मार्च: रोहिणी सेक्टर-7 में मालकिन हत्या कर माल लेकर फरार हुआ नौकर।
14 मार्च: विकासपुरी में घर से दस लाख रुपये कीमत के जेवरात लेकर नौकर फरार।
06 मार्च: रोहिणी सेक्टर-7 में ज्योतिषी के 50 लाख रुपये लेकर नौकर फरार।


घरेलू नौकर मुहैया कराने वाली प्लसमेंट एजेंसी के लिए कोई अलग से रजिस्ट्रेशन कराने का प्रावधान नहीं है। लेबर विभाग में शॉप एंड इस्टेबलिशमेंट एक्ट के तहत किसी भी प्रकार की व्यवसायिक गतिविधि के लिए रजिस्ट्रेशन का प्रावधान किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिनदहाड़े चार बदमाशों ने घर पर धावा बोला