DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आउटर पर अटका त्रिवेदी का इस्तीफा

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी को हटाने के फैसले के तीन दिन बाद भी उनके खुद इस्तीफा न देने पर अड़ने के कारण तृणमूल की धड़कनें बढ़ गई हैं। वहीं, ममता भी अपने फैसले पर अडिग हैं। सरकार के रणनीतिकारों ने तृणमूल नेताओं से कहा है कि लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण प्रस्ताव पर बहस के बाद त्रिवेदी को हटाकर मुकुल रॉय को रेल मंत्रलय का प्रभार दिया जाएगा।

इस बीच, त्रिवेदी द्वारा रेल बजट पर चर्चा का जवाब देने संबंधी दावे तृणमूल का तनाव बढ़ाने वाले साबित हो रहे हैं। उन्होंने शनिवार को रेलवे बोर्ड अधिकारियों के साथ बैठक भी की। कांग्रेस और तृणमूल सूत्रों के अनुसार, सोमवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब प्रधानमंत्री देंगे। सरकार के रणनीतिकारों ने ममता को समझाया है कि प्रधानमंत्री के जवाब से पहले त्रिवेदी का इस्तीफा लेना विपक्ष को नाहक मुद्दा थमाना होगा।

इस विवाद से जुड़े एक वरिष्ठ मंत्री ने शनिवार को कहा कि त्रिवेदी के इस्तीफे में दो दिन लग सकते हैं। कोलकाता में ममता बनर्जी ने भी अपने सहयोगियों से यही कहा है। ममता ने साफ किया है वह किसी भी सूरत में त्रिवेदी को रेल बजट पर चर्चा का जवाब नहीं देने देंगी। रेल बजट पर चर्चा मंगलवार को शुरू होने की संभावना है और अगले दिन रेल मंत्री जवाब दे सकते हैं।

अभिभाषण प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री के जवाब तक इस्तीफा टालने के पीछे सरकार की मंशा तब तक तृणमूल का रवैया देखने की भी है। अभिभाषण पर विपक्ष की ओर से कई संशोधन प्रस्ताव रखे गए हैं और सरकार को इन्हें खारिज करने के लिए तृणमूल की जरूरत पड़ेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आउटर पर अटका त्रिवेदी का इस्तीफा