DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिपाही पर फायरिंग कर बदमाशों ने कैदी भगाया

मऊ। निज संवाददाता।

सलेमपुर स्टेशन पर शनिवार को हथियारबंद बदमाशों ने सिपाही को गोली मारकर एक कैदी भगा ले गये। भगाया गया कैदी मऊ जिला जेल में बंद था। पेशी के लिए उसे देवरिया भेजा गया था। वापसी में सलेमपुर स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार करते वक्त घटना हुई। फिलहाल, गोरखपुर मेडिकल कालेज में भर्ती सिपाही खतरे से बाहर है। फरार कैदी सलेमपुर का निवासी है। देवरिया जेल में कैदियों से मारपीट करने के बाद उसे जून, 2010 में यहां स्थानांतरित किया गया था। बताते हैं कि सलेमपुर गांव निवासी सतीश सिंह पुत्र श्याम बहादुर सिंह पर हत्या और हत्या के प्रयास और बलवा सहित कई अन्य आपराधिक मामले दर्ज है।

वह देवरिया जिला जेल में बंद था। जून, 2010 में उसने वहां कैदियों से मारपीट कर ली। जिला प्रशासन की रिपोर्ट पर सात जून, 2010 को उसे मऊ जिला जेल भेज दिया गया। शनिवार को उसकी पेशी देवरिया जिला न्यायालय में थी। प्रतिसार निरीक्षक (आरआई) गुरुदयाल सिंह कटियार के अनुसार सिपाही रामदयाल सिंह व सुखराज सिंह उसे ट्रेन से लेकर सलेमपुर गये। वहां सड़क मार्ग से देवरिया पहुंचे।

पेशी के बाद दोनों सिपाही कैदी के साथ वापस सलेमपुर आये। वे ट्रेन का इंतजार कर रहे थे। इस बीच, हथियारबंद बदमाश पहुंचे। अंधाधुंध फायरिंग कर वे कैदी को हथकड़ी सहित भगा ले गये। बदमाशों की गोली से सिपाही रामदयाल सिंह घायल हो गये। गोली उनके सीने पर लगी। मौके पर मौजूद दूसरे सिपाही सुखराज ने घटना की सूचना मऊ में प्रतिसार निरीक्षक को दी। इधर, सलेमपुर पुलिस ने घायल सिपाही को देवरिया सदर अस्पताल पहुंचाया। प्राथमिक इलाज के बाद डाक्टरों ने उसे गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। घटना की जानकारी पाते ही आरआई देवरिया रवाना हो गए। एसपी ओंकार सिंह ने सलेमपुर एसओ से बातचीत का हवाला देते हुए बताया कि गोली सिपाही की कोहनी से टकराकर पेट में लगी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिपाही पर फायरिंग कर बदमाशों ने कैदी भगाया