DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़ी खामोशी से हो गया मेधाओं का सम्मान

वाराणसी कार्यालय संवादादाता

बीएचयू के 94वें दीक्षांत समारोह में मेधाओं का सम्मान खामोशी के साथ कर दिया गया। जब मेडल बांटे जा रहे थे, तब तालियों का अभाव काफी खल रहा था। वैसे चांसलर डॉ. कर्ण सिंह ने समारोह के उद्घाटन और समापन की घोषणा संस्कृत में करके जरूर कुछ तालियां बटोरीं।समारोह के लिए एम्फीथिएटर में बना पंडाल खचाखच भरा था। ठीक पांच बजकर सात मिनट पर पथ संचलन के साथ समारोह की शुरुआत हुई। इस समय सभी लोग अपने स्थानों पर खड़े हो गए थे। सबसे आगे रजिस्ट्रार प्रो. वीके कुमरा, उनके पीछे परीक्षा नियंता डॉ. केपी उपाध्याय, फिर सभी संकायों के प्रमुख, विभागाध्यक्ष और प्राचार्य थे। सबसे पीछे कुलाधिपति डॉ. कर्ण सिंह, लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और कुलपति डॉ. लालजी सिंह थे। हल्की-हल्की धुन और धीमी सी तबले की थाप पर यह कारवां मंच के बाईं ओर से दाईं ओर धीरे-धीरे चलता गया। दाहिने छोर पर पहुंचने के बाद विभागाध्यक्ष पंडाल में बने अपने स्थान पर बैठे और शेष लोग मंचासीन हो गए। डॉ. कर्ण सिंह ने जैसे ही संस्कृत में समारोह के उद्घाटन की घोषणा की, पूरा पंडाल तालियों से गूंज उठा। इसके बाद डॉ. कर्ण सिंह ने स्वर्ण पदक पाने वाले 27 मेधावी छात्रों को उत्कृष्ट आचरण की शपथ दिलाई।

इसके बाद बारी-बारी से पदक विजेताओं को बुलाया गया। मेडलधारी मंच पर आते, मेडल लेते और चांसलर के हाथों मेडल लेकर चले जाते। 27 मेडलों के वितरण के बीच सिर्फ तीन या चार बार तालियों की आवाज सुनाई दी। इस साल का चांसलर अवॉर्ड मिर्जापुर जिले के मगरहां गांव के मूल निवासी और अब वाराणसी के कबीर नगर में रहने वाले विज्ञान संकाय के विवेक सिंह को दिया गया। इस दौरान भी तालियों की आवाज कम ही रही। कुलपति डॉ. लालजी सिंह ने अतिथियों का स्वागत किया। संचालन डॉ. पद्मिनी रवीन्द्रन ने किया।मानद उपाधियां भी दी गईंबीएचयू कृषि विज्ञान संस्थान की ओर से भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के महानिदेशक आर. अय्यप्पन और विज्ञान संकाय की ओर से जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुधीर कुमार सोपोरी को ‘डीएससी’ की मानद उपाधि प्रदान की गई। ये दोनों उपाधि हासिल करने के लिए मौजूद थे। इनके अलावा संगीत एवं मंचकला संकाय की ओर से सदी के महानायक अमिताभ बच्चान को ‘डीलिट्’ की उपाधि दी गई। हालांकि अमिताभ अस्वस्थता के कारण यहां नहीं आ सके थे। अतिथियों में ये लोग थे शामिलबीएचयू के दीक्षांत समारोह में प्रमुख अतिथियों में कुंवर अनन्त नारायण सिंह, बौद्ध समुदाय के सुमेध थेरो, शहर उत्तरी से भाजपा विधायक रवीन्द्र जायसवाल, रोहनिया से अपना दल की विधायक अनुप्रिया पटेल, प्रो. गजेंद्र सिंह, आरसी यादव, प्रो. केपी सिंह मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बड़ी खामोशी से हो गया मेधाओं का सम्मान