DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

औरंगाबाद में बैंक कर्मी की हत्या कर 11 लाख लूटे

औरंगाबाद/रफीगंज। संवाद सूत्र। रफीगंज थाने के गेट पर दो अज्ञात अपराधियों ने दिन दहाड़े रफीगंज कोऑपरेटिव बैंक के दो कर्मियों को गोली मार कर उनसे 11 लाख रुपए लूट लिए। घटना में गंभीर रूप से घायल कर्मी बाबूलाल साव की मौत इलाज के लिए गया ले जाते समय हो गई जबकि दूसरे का इलाज स्थानीय अस्पताल में चल रहा है।

प्राप्त सूचना के अनुसार बैंक के दो चतुर्थवर्गीय कर्मचारी जगन्नाथ प्रसाद और बाबूलाल साव गुरुवार को पंजाब नेशनल बैंक की स्थानीय शाखा से 15 लाख रुपए निकाल कर महज 60 गज दूर स्थित कोऑपरेटिव बैंक की शाखा में जा रहे थे जहां किसानों के बीच रुपये बांटा जाना था। दोनों बंकों के बीच रफीगंज थाना है।

पैदल चलकर दोनों कर्मी दो बजे दिन में जैसे ही थाना गेट के पास पहुंचे वहां एक मोटरसाइकिल पर सवार दो अपराधी आ धमके और दोनों कर्मियों पर गोली चला दी। एक गोली जगन्नाथ प्रसाद की बांह में लगी जबकि बाबूलाल साव की गर्दन में गोली लगी।

घायल होकर जब दोनों कर्मी गिरे तो अपराधी बाबूलाल साव के हाथ का बैग छीन कर भाग निकले जिसमें 11 लाख रुपए थे। शेष चार लाख रुपये जगन्नाथ प्रसाद के पास बैग में थे जिस पर अपराधियों की नजर नहीं पड़ी। शोर सुनकर पुलिस आई लेकिन तब तक लुटेरे भाग निकले जिससे चार लाख रुपए बच गए।

दोनों घायलों को तत्काल स्थानीय अस्पताल में दाखिल कराया गया जहां बाबूलाल साव की हालत गंभीर बताते हुए उन्हें बेहतर इलाज के लिए गया रेफर कर दिया गया लेकिन इलाज के लिए जाने के क्रम में ही उनकी मौत हो गई।

समाचार लिखे जाने तक लुटेरों का कोई सुराग नहीं मिला है। एसपी सत्यवीर सिंह स्वयं घटनास्थल पर कैंप कर छापेमारी अभियान का संचालन कर रहे हैं। एसपी ने बताया कि बैंक से पैसे ले जाने की सूचना पुलिस को नहीं दी गई थी जिससे पुलिस कोई सुराक्षात्मक प्रबंध नहीन कर सकी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:औरंगाबाद में बैंक कर्मी की हत्या कर 11 लाख लूटे