DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘आसान नहीं होती है वित्तमंत्री की जिंदगी’

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) की ‘उम्मीद की साइकिल’ ने कुछ ऐसी मात दी है कि साइकिल का जिक्र आते ही सियासी पार्टियां चौकन्नी हो जाती हैं।

वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने बजट भाषण के दौरान जब साइकिल पर बुनियादी सीमा शुल्क बढ़ाने का ऐलान किया तो लोकसभा में मौजूद सभी सदस्य एकदम नाराज हो उठे। बसपा के एक सांसद ने सपा सांसद की तरफ इशारा करते हुए कहा कि और बनाओ सरकार, साइकिल महंगी करवा दी। यह शायद पहला मौका था, जब वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी को अपने बजट भाषण की शुरुआत हाथ जोड़कर सांसदों से ‘प्लीज’ ‘प्लीज’ कहते हुए करनी पड़ी।

करीब एक घंटे पचास मिनट लंबे बजट भाषण की शुरुआत करते हुए प्रणब मुखर्जी ने कहा कि ‘वित्तमंत्री की जिंदगी आसान नहीं होती।’ इस पर भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी ने मजाकिया लहजे में कहा कि कई बार वित्तमंत्री की जिंदगी हमारी जिंदगी को भी असहज बना देती है। यह सुनते ही सभी सदस्य हंसने लगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘आसान नहीं होती है वित्तमंत्री की जिंदगी’