DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उमंग से लबरेज होगा ‘बलिया महोत्सव’

बलिया निज संवाददाता

‘हवा बदली तो हुजूम भी बदल गया, सरकार बदली तो दरबान तक बदल गया..’ किसी शायर की यह पंक्तियां आज जिले की शान से जुड़े ‘बलिया महोत्सव’ की तैयारी और बेताबी के मद्देनजर सटीक बैठती हैं। गुरुवार को सूबे की अखिलेश यादव सरकार में जिले से अंबिका चौधरी और रामगोविंद चौधरी को शामिल किये जाने से लोगों की खुशी दोगुनी हो गयी है। अब इन कैबिनेट मंत्रियों का दायित्व है कि वे इस आयोजन को भव्य बनाये। अमर शहीद मंगल पांडेय की याद में आयोजित होने वाले आयोजन में सपा नेताओं के बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने की उम्मीद है। दूसरी ओर, आयोजक मंडल में शामिल डीएम समेत कई अफसर तबादले के डर से खामोश हैं। सन् 1857 की क्रांति के अमर शहीद मंगल पांडेय की जयंती 30 जनवरी पर संस्कृति विभाग की ओर से आयोजित होने वाला ‘बलिया महोत्सव’ विधानसभा चुनाव के कारण टाल दिया गया था।

अब यह 24 व 25 मार्च को होगा। अबकी महोत्सव में नयी सरकार की उमंग जगमगाहट को कई गुना बढ़ायेगी। नयी सरकार में शामिल मंत्रियों की संख्या से जिले की पहचान में चार-चांद लगना तय है। यह महोत्सव मंत्रियों व नवनिर्वाचित विधायकों के लिए चुनावी जीत के बाद का पहला सार्वजनिक कार्यक्रम भी होगा। प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के अमर सपूत मंगल पांडेय को याद करने के लिए जिला प्रशासन व प्रदेश सरकार की ओर से ‘बलिया महोत्सव’ के नाम से जिले में विविध कार्यक्रमों का दो दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन होगा। इस मौके पर प्रभात फेरी, प्रदर्शनियां, सांस्कृतिक कार्यक्रम, शैक्षणिक व खेलकूद प्रतियोगिताएं आदि होंगी। देश-प्रदेश के बड़े लोक कलाकारों का जमावड़ा भी होगा। इसके अलावा अन्य प्रदेशों के लोकविधाओं का प्रदर्शन भी महोत्सव का मुख्य आकर्षण रहेगा। यह मौका पूरे साल भर पर जिले की सांस्कृतिक विरासत को सहेजने का भी एकमात्र मौका प्रदान करता है।

लिस्ट में जुड़ेंगे कई और कार्यक्रम ‘बलिया महोत्सव’ में कई और कार्यक्रम जुड़ेंगे। महोत्सव में महिलाओं को फोकस कर खान-पान, व्यंजन, रंगोली, अल्पना, चित्रकला प्रतियोगिताएं शामिल की गयी हैं। जिला प्रशासन की पूरे आयोजन की स्मारिका भी निकालने की योजना है। इसके लिए जिले के साहित्याकारों की टीम बनायी गयी है। इसके अलावा कथक नृत्य, बृज के विविध कार्यक्रम, बिहार, उड़ीसा, मध्यप्रदेश आदि प्रांतों की लोककलाओं का प्रदर्शन किया जायेगा। इलाहाबाद के कलाकारों का ढिढिया नृत्य भी विशेष आकर्षण होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उमंग से लबरेज होगा ‘बलिया महोत्सव’