DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नाराज विधायकों को मनाने की कोशिश जारी

उत्तराखंड में विजय बहुगुणा को मुख्यमंत्री बनाए जाने से नाराज विधायकों को मनाने की कोशिश जारी है। पार्टी के वरिष्ठ नेता नाराज विधायकों से संपर्क कर उन्हें समझाने में जुटे हैं। मगर विधायक अपनी मांग पर अड़े हुए हैं और गुरुवार को शपथ ग्रहण समरोह से नदारद रहे। इनमें 14 केंद्रीय राज्यमंत्री हरीश रावत खेमे के हैं।

प्रोटेम स्पीकर डॉ. शैलेंद्र मोहन सिंघल ने 52 नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई। भाजपा ने एकटजुटता दिखाई और सभी 31 विधायकों ने शपथ ली। इस बीच, हरीश रावत गुरुवार को भी संसद नहीं गए। हालांकि, शुक्रवार को आम बजट के लिए पार्टी ने सभी सांसदों को सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है।

 रावत गुट का दावा है कि उन्हें 18 विधायकों का समर्थन हासिल है। एक नाराज विधायक के मुताबिक, कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने उन्हें फोन कर मंत्री बनाने का ऑफर दिया। मगर उन्होंने यह कहते हुए इनकार कर दिया कि वह विधायक के रूप में ज्यादा खुश हैं। उनके मुताबिक कई दूसरे विधायकों को भी इस तरह के ऑफर मिले हैं। विधायकों का कहना है कि कोई सम्मानजनक हल निकले पर ही यह संकट खत्म होगा।

ज्यादातर नाराज विधायक दिल्ली में डेरा जमाए हुए हैं और वह शपथ लेने के लिए देहरादून नहीं गए। हालांकि, कांग्रेस रणनीतिकारों को उम्मीद है कि वक्त के साथ विधायकों की नाराजगी कम हो जाएगी। 26 मार्च को विधानसभा के अध्यक्ष का चुनाव होना है और अध्यक्ष चुनने में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आएगी। विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव से तय हो जाएगा कि बहुगुणा सरकार को सदन में बहुमत हासिल या नहीं। दूसरी तरफ, रावत समर्थक विधायक भी इस दिन का इंतजार कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नाराज विधायकों को मनाने की कोशिश जारी