DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शतंरज की बिसात पर नन्हें बच्चे देंगे मात

शह और मात के खेल में अपने हुनर का कमाल दिखाएंगे नौनिहाल। छोटे बच्चाों में शतरंज के क्रेज को बढ़ाने के लिए जिला स्तरयी शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। प्रतियोगिता में सात वर्ष तक के बच्चे हिस्सा ले सकेंगे। जिला शतरंज संघ के जनरल सेक्रेटरी नरेश शर्मा ने बताया कि गुड़गांव में शतरंज को बढ़ावा देने के लिए जरूरी है कि बच्चाों के अंदर छुपी प्रतिभाओं को बाहर लाया जाए। इसको ध्यान में रखते हुए प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है।

जिला स्तरीय अंडर-7 शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन 17 व 18 मार्च को सेक्टर-14 के पास ओल्ड डीएलएफ स्थित किडजी में किया जाएगा। गुडगांव में इस तरह की ये पहली प्रतियोगिता है। किडजी की निदेशक भावना अहलुवालिया ने बताया कि जिन बच्चाों का जन्म 01-01-2005 के बाद हुई है वो इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए पात्र हैं। भावना के मुताबिक इस तरह की प्रतियोगिताओं से नन्हीं प्रतिभाएं प्रोत्साहित होंगी। साथ ही भविष्य में ये बच्चाे राज्य तथा राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में जिले का नाम रोशन करेंगे। भावना ने बताया कि अंडर-7 शतरंज प्रतियोगिता के तर्ज पर ही जल्द जिला स्तरीय अंडर-9 शतरंज प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शतंरज की बिसात पर नन्हें बच्चे देंगे मात