DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाने के गेट पर बैंककर्मी की हत्या कर 11 लाख की लूट

औरंगाबाद जिले के रफीगंज थाने के गेट पर ही गुरुवार को दिनदहाड़े बाइक सवार दो अपराधियों ने रफीगंज को-ऑपरेटिव बैंक के दो कर्मचारियों को गोली मार कर 11 लाख रुपए लूट लिए। इनमें से गंभीर रूप से घायल कर्मचारी बाबूलाल साव की मौत हो गई। जबकि, दूसरे का इलाज स्थानीय अस्पताल में चल रहा है।
लूट गए रुपये किसानों में बांटे जाने थे।

को-ऑपरेटिव बैंक के दो चतुर्थवर्गीय कर्मचारी जगन्नाथ प्रसाद और बाबूलाल साव ने गुरुवार को पंजाब नेशनल बैंक की स्थानीय शाखा से 15 लाख रुपए निकाले। दिन में करीब दो बजे दोनों कर्मचारी पीएनबी शाखा से महज 60 गज की दूरी पर स्थित को-ऑपरेटिव बैंक की शाखा में जा रहे थे। इन दोनों बैंकों के बीच रफीगंज थाना भी है। दोनों कर्मचारी रुपये लेकर पैदल ही जा रहे थे। जैसे ही दोनों बैंककर्मी थाना गेट के पास पहुंचे, मोटरसाइकिल पर सवार दो अपराधियों ने अचानक दोनों कर्मचारियों पर गोलियां चलाने लगे। एक गोली जगन्नाथ प्रसाद की बांह में लगी, जबकि दूसरी गोली बाबूलाल साव की गर्दन में। दोनों कर्मचारी सड़क पर ही गिर पड़े। बाबूलाल के हाथ से रुपयों से भरा बैग छीन कर अपराधी भाग निकले। इस बैग में 11 लाख रुपये थे। जबकि, चार लाख रुपये जगन्नाथ प्रसाद के पास बैग में थे। लेकिन इस पर अपराधियों की नजर नहीं पड़ी। फायरिंग की आवाज और शोर-शराबा सुनकर जब तक पुलिस मौके पर पहुंची, तब तक लुटेरे दूर जा चुके थे। दोनों घायल कर्मचारियों को तत्काल स्थानीय अस्पताल में दाखिल कराया गया। बाबूलाल साव की स्थिति गंभीर देखते हुए उसे डॉक्टरों ने रेफर कर दिया। उसे इलाज के लिए ले जाने के दौरान रास्ते में बाबूलाल की मौत हो गई। पुलिस को लुटेरों के बारे में कोई सुराग नहीं मिल सका है। एसपी सत्यवीर सिंह रफीगंज में कैंप कर रहे हैं और लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। एसपी के मुताबिक, बैंक से पैसे निकालकर ले जाने की सूचना पुलिस को नहीं दी गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंककर्मी की हत्या कर 11 लाख की लूट