DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोतिहारी में खोला जाए केन्द्रीय विश्वविद्यालय: स्वर्णिम भारत निर्माण

स्वर्णिम भारत निर्माण एवं सहजानन्द सरस्वती किसान सूचना केन्द्र ने गुरुवार,15 मार्च को नई दिल्ली में एक दिवसीय धरना दिया। इस संस्था ने मोतिहारी में केन्द्रीय विश्वविद्यालय खोले जाने की मांग की है। प्रधानमंत्री का ध्यान इस मांग की तरफ आकर्षित करने के लिए संस्था ने एक ज्ञापन भी जारी किया।

स्वर्णिम भारत निर्माण ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में मोतिहारी को केन्द्रीय विश्वविद्यालय खोले जाने के लिए उचित नहीं ठहराया है। उसे यह कहते हुए खारिज कर दिया कि मोतिहारी में एअर पोर्ट की सुविधा नहीं है। इस आधार पर केन्द्रीय विश्वविद्यालय को मोतिहारी से गया के लिए प्रस्तावित कर दिया गया जोकि गलत है। इस प्रस्तावित विश्वविद्यालय को गया में शिफ्ट ना किया जाए क्योंकि वहां पर पहले से ही प्रसिद्व मगध विश्वविद्यालय है। इस संस्था की मांग है कि मोतिहारी महात्मा गांधी का कार्य क्ष्‍ोत्र रहा है। 13 नवंबर 1917 को गांधी जी ने मोतिहारी से 32 किलोमीटर दूर बड़हरवा लखनसेन में देश के पहले बुनियादी स्कूल की स्थापना की थी। ऐसे स्थान को मात्र एअर पोर्ट की सुविधा के अभाव के नाम पर खारिज कर देना लोगों के साथ अन्याय है। अत: मोतिहारी में एक केन्द्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना की जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोतिहारी में खोला जाए केन्द्रीय विश्वविद्यालय: स्वर्णिम भारत निर्माण