DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजस्व बढ़ाने के लिए फेरीवालों का लाइसेंस बनेगा

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में राजस्व आय बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन ने कवायद शुरु करते हुए खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग ठेलों, खोमचों और फेरीवालों के भी लाइसेंस बनाने का फैसला किया है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार यह लाइसेंस बनवाने में देर करने वालों से प्रतिदिन एक सौ रुपए जुर्माने के साथ लाइसेंस शुल्क जमा करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि एक अप्रैल से अभियान चलाकर लाइसेंस नहीं बनवाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
 
उन्होंने बताया कि अब मीट, मछली एवं मुर्गे बेचने वाली दुकानों के भी लाइसेंस बनाए जाएंगे। इसके लिए शीघ्र ही शिविर लगाया जाएगा। पंजीकरण शुल्क 100 रुपए तथा लाइसेंस शुल्क 2000 रुपए निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में 12 लाख रुपए से अधिक टर्न ओवर वाले व्यापारियों द्वारा लाइसेंस नहीं बनवाने पर उनसे पांच लाख रुपए जुर्माना वसूला जाएगा एवं उन्हें जेल की सजा दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजस्व बढ़ाने के लिए फेरीवालों का लाइसेंस बनेगा