DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रचार का होता है त्वरित प्रभाव : सैफ

प्रचार का होता है त्वरित प्रभाव : सैफ

अभिनेता सैफ अली खान अपनी नई फिल्म 'एजेंट विनोद' के प्रचार के लिए एक गेम से लेकर एक ग्राफिक किताब और 12 शहरों की यात्रा सहित प्रचार का हर सम्भव तरीका अपना रहे हैं। सैफ कहते हैं कि फिल्मों का प्रचार या विपणन खर्चीला होता है लेकिन फिल्म की सफलता के लिए महत्वपूर्ण होता है।

बीते लगभग दो दशकों से फिल्मी दुनिया में सक्रिय सैफ ने एक साक्षात्कार में कहा कि हम कई तरह से फिल्म का प्रचार कर रहे हैं। यह खर्चीला और निर्माण का पूरी तरह से एक अलग क्षेत्र है। इन दिनों इसे बहुत गम्भीरता से लिया जाता है।

उन्होंने कहा कि यदि हम अमेरिका को देखें तो यह देखना अद्भुत होगा कि वे किस तरह से विपणन व अन्य सभी प्रकार के साधनों से अपनी फिल्मों का प्रचार करते हैं। भारतीय विपणन व्यवसाय हर फिल्म के साथ तेजी से विकास कर रहा है और अब आप प्रचार पर ज्यादा खर्च करते हैं। यह फिल्म निर्माण का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है।

सैफ न केवल 'एजेंट विनोद' का निर्माण कर रहे हैं बल्कि वह इस रोमांचक फिल्म में एक जासूस की भूमिका भी निभा रहे हैं। श्रीराम राघवन ने इसका निर्देशन किया है। करीना कपूर व बीते दौर के खलनायक प्रेम चोपड़ा के अभिनय वाली यह फिल्म 23 मार्च को प्रदर्शित होगी।

बीते कुछ सालों में फिल्म निर्माण के अर्थशास्त्र में काफी बदलाव हुआ है। इसके परिणामस्वरूप बॉक्सऑफिस पर प्रदर्शन के पहले तीन दिन की कमाई से फिल्म की सफलता का आकलन किया जाता है।

सैफ ने कहा कि फिल्मों की संख्या काफी बढ़ी है और आजकल लोग बहुत व्यस्त होते हैं। पहले के समय में फिल्में देखने के अलावा मनोरंजन का कोई अन्य साधन नहीं होता था। आप फिल्मों को पांच से छह बार देखते थे और आपको सभी संवाद याद हो जाते थे। आज करने के लिए और भी बहुत कुछ है इसलिए यदि फिल्म प्रदर्शन के बाद पहला सप्ताहांत हाउसफुल चला जाए तो यह बहुत बड़ी बात हो जाती है।

वैसे सैफ फिल्मों के लम्बे समय तक चलने में विश्वास रखते हैं और उन्हें उम्मीद है कि 'एजेंट विनोद' कम से कम दो सप्ताह तक तो अच्छी चलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रचार का होता है त्वरित प्रभाव : सैफ