DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनआरआई दूल्हा भारी न पड़ जाए

अपनी लड़की की एनआरआई से शादी से पहले कुछ महत्वपूर्ण बातों की पड़ताल जरूर कर लें। अन्यथा बाद में पछताना पड़ सकता है। बता रही हैं वंदना

भले ही उच्च वर्ग में एनआरआई लड़के से शादी का क्रेज कुछ कम हुआ हो, पर मध्यम वर्ग में यह अभी भी बरकरार है। एनआरआई दूल्हे का सपना जहां लड़की के मन में विदेश में बसने की इच्छा जगा देता है, वहीं लड़की के माता-पिता भी एनआरआई दामाद पाकर समाज में अपना रुतबा बढ़ा लेना चाहते हैं। उन्हें लगता है कि विदेश में उनकी लड़की सुख से रहेगी। दस नई बातें सीखेगी। आने वाली संतानें भी जिंदगी में कामयाब होंगी। पर उनकी इस सोच को झटका शादी के बाद लगता है। दरअसल अधिकांश मामलों में एनआरआई लड़के भारत में रह रहे अपने माता-पिता के दबाव में भारतीय लड़की से शादी कर लेते हैं और शादी के बाद विदेश पहुंचते ही अपनी भारतीय पत्नी को भुला देते हैं। विदेश में उनकी या तो पहले से शादी हो चुकी होती है या अफेयर चल रहा होता है। सिर्फ माता-पिता के दबाव में वह शादी कर लेते हैं और जल्द साथ ले चलने का भरोसा देकर पत्नी को भारत छोड़ जाते हैं। भरोसा, भरोसा ही रह जाता है और एनआरआई पति फिर भारत नहीं लौटता।

लखनऊ की रहने वाली रिनी के साथ भी ऐसा ही हुआ। शादी के 15 दिन बाद आईटी फर्म में कार्यरत सुकेश ऑस्ट्रेलिया चला गया। जाते समय उसने वादा किया कि वह जल्द ही रिनी को आस्ट्रेलिया बुला लेगा। पर शादी के छह महीने बाद भी सुकेश ने रिनी को आस्ट्रेलिया नहीं बुलाया। रिनी के पिता के बहुत दबाव बनाने पर सुकेश ने रिनी को आस्ट्रेलिया बुला तो लिया, पर साथ रखने के बजाय एक पेइंग गेस्ट में ठहरा दिया। अपने किसी दोस्त की मदद से रिनी के पिता ने मालूमात की तो पता चला कि सुकेश ने आस्ट्रेलिया में पहले ही शादी की हुई थी। उसने तो सिर्फ मां के दबाव में भारत में शादी की।

इन बातों की करें जांच-पड़ताल

शादी से पहले लड़के की सामाजिक, आर्थिक, पारिवारिक स्थिति के बारे में ठीक से जांच-पड़ताल कर लें। लड़के के भारत में रह रहे रिश्तेदारों, पड़ोसियों एवं दोस्तों से संपर्क कर सकते हैं। लड़का विदेश में जिस शहर में है, वहां अगर कोई परिचित है, तो उनकी मदद से लड़के के प्रोफाइल एवं पारिवारिक स्थिति के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।
यह जरूर मालूम कर लें कि लड़के ने वहां पहले से शादी तो नहीं कर रखी है और भारत में माता-पिता के दबाव में दूसरी शादी तो नहीं कर रहा।
लड़का विदेश में किस कंपनी में काम करता है, उसे कितनी सैलरी मिलती है, कितने साल से वहां कार्यरत है आदि जानकारियां उस कंपनी के भारत स्थित ऑफिस से ले सकते हैं।
पिछले कुछ सालों में अगर उसने कई नौकरियां बदली हैं, तो वहां से भी लड़के के बारे में जानकारियां जुटाई जा सकती हैं।
लड़का जिस देश में है, वहां के दूतावास के जरिये भी उसके बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।
अगर लड़के के परिवार के कुछ और सदस्य विदेश में हैं, तो उनके बारे में भी जानकारी हासिल कर लीजिए। अगर उनकी निजी जिंदगी में कोई दिक्कत नजर आए, तो वहां शादी का इरादा त्यागना ही बेहतर होता है।
लड़के से उसके ऑफिस के फोन नंबर, ऑफिस का ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर जरूर ले लें।
अगर मैट्रीमोनियल वेबसाइट के जरिए
शादी कर रही हैं, तो लड़के और उसके परिवार के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए किसी प्राइवेट डिटेक्टिव एजेंसी की मदद ले सकते हैं। 
(एडवोकेट अरविंद जैन से बातचीत पर आधारित)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एनआरआई दूल्हा भारी न पड़ जाए