DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बागवानी और व्यायाम दोनों साथ-साथ

अगर आप आज तक अपने शौक के लिए बागवानी करती आ रही हैं, तो आज से बेहतर स्वास्थ्य के लिए भी बागवानी शुरू कर दें। हर दिन आधे घंटे बागवानी करने से आप लगभग 200 कैलोरी बर्न कर सकती हैं, साथ ही इससे मानसिक शांति भी मिलती है। बागवानी कैसे आपके व्यायाम का एक फायदेमंद तरीका भी है, बता  रही हैं शाश्वती

अगर आपको बागवानी का शौक है, तब तो आपके लिए यह बेहद अच्छी बात है। अगर आप बागवानी का शौक नहीं रखती हैं, तो अपनी सेहत और फिटनेस की खातिर आज से ही थोड़ी-बहुत बागवानी शुरू कर दें। इससे आपके घर-आंगन की खूबसूरती तो बढ़ेगी ही, साथ में वक्त की कमी के कारण एक्सरसाइज न कर पाने की आपकी कसक भी दूर हो जाएगी। बागवानी से जुड़ी बेहद आम प्रक्रियाएं, जैसे पौधों में से सूखी घास निकालना आदि से भी आपकी अच्छी-खासी कैलोरी बर्न हो जाएगी।

बागवानी क्यों है फायदेमंद
बागवानी किसी के लिए ध्यान की तरह है, तो किसी के लिए अपनी क्रिएटिविटी को दर्शाने का तरीका, तो किसी अन्य के लिए मौज-मस्ती का तरीका भी। पर बागवानी के कारण हमारी मांसपेशियां एक साथ काम करती हैं और साथ-ही-साथ कार्डियोवस्कुलर एक्सरसाइज भी हो जाती है। बागवानी की सबसे बड़ी खासियत यह होती है कि बागवानी करने के दौरान बिना किसी अतिरिक्त मेहनत के पूरे शरीर का वर्कआउट हो जाता है। बागवानी के दौरान अनजाने में ही आप स्ट्रेचिंग, वेटलिफ्टिंग से लेकर कार्डियोवस्कुलर एक्सरसाइज तक भी कर जाती हैं।

एक शोध के मुताबिक लॉन की सफाई के दौरान आपकी उतनी कैलोरी बर्न होती हैं, जितनी साइकिल चलाते वक्त होती हैं। पेड़ों की कटाई-छंटाई से सामान्य गति में चलने जितनी कैलोरी बर्न होती हैं। वहीं, बागवानी से जुड़े कुछ भारी-भरकम काम जैसे झाड़ियों को काटना या फिर लकड़ियों को एक जगह इकट्ठा करने जैसे काम से लगभग उतनी ही कैलोरी बर्न होती है, जितनी कैलोरी आप अपने एरोबिक्स क्लास में पसीने बहाने के बाद बर्न करती हैं।

एक शोध के मुताबिक, 45 मिनट बागवानी करने से उतनी कैलोरी बर्न हो जाती हैं, जितनी 30 मिनट एरोबिक्स करने के बाद बर्न होती हैं। जैसे दूसरी तरह के व्यायाम को करने से रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहते हैं और दिल से जुड़ी बीमारियां दूर रहती हैं। उसी तरह से बागवानी के फायदे भी बिल्कुल ऐसे ही होते हैं। आप बागवानी से अपने शरीर की अतिरिक्त बढ़ी हुई चर्बी को भी खुद से दूर रख सकती हैं। साथ ही बागवानी करने से पहले आपको यह भी सोचने की जरूरत नहीं पड़ेगी कि कहीं आपकी ज्यादा उम्र बागवानी करने के आपके शौक में बाधा तो नहीं बन जाएगी। और एक सबसे बड़ा फायदा यह कि उम्रदराज महिलाएं अगर नियमित बागवानी करें तो उन्हें इससे ऑस्टियोपोरोसिस से लड़ने में भी मदद मिलती है।

इन बातों का रखें ध्यान
जैसे आप कोई भी व्यायाम करने से पहले खुद को वॉर्मअप करती हैं, ठीक वैसे ही बागवानी से पहले पांच से दस मिनट का वॉर्मअप जरूर करें।
आप पांच से दस मिनट तक स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज भी किया करें। स्ट्रेचिंग करने से आपकी पीठ व मांसपेशियों पर अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ेगा।
बागवानी करने के दौरान उससे जुड़ी सभी तरह की प्रक्रियाओं, जैसे क्यारी तैयार करने, बीज रोपने से लेकर घास साफ करने तक को इसमें शामिल करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बागवानी और व्यायाम दोनों साथ-साथ