DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

त्रिवेदी पर चढ़ गई रेल

रेलवे को आर्थिक संकट से बाहर निकालने के लिए पूरे आठ वर्ष बाद यात्री किराया बढ़ाने की रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी की हिम्मत इस तृणमूल नेता को भारी पड़ सकती है। रेल मंत्री की इस हिमाकत को गंभीरता से लेते हुए उनकी नेता व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को पत्र लिखकर दिनेश त्रिवेदी को मंत्रिमंडल से हटाने और उनकी जगह मुकुल राय को रेल मंत्रलय देने को कहा है।

हालांकि, सरकार ने साफ कर दिया है कि तुरंत कोई फैसला नहीं होने वाला है। इस पर कोई भी कदम शुक्रवार को प्रणव मुखर्जी के आम बजट पेश करने के बाद ही लिया जाएगा। रेल बजट पर ममता बनर्जी की नाराजगी का मामला देर शाम तक एक सीमा से अधिक न बढ़ने को लेकर आश्वस्त यूपीए नेताओं ने देर रात माना कि हालात खराब हो रहे हैं।

वैसे रणनीतिकार मान रहे हैं कि राजनीतिक तौर पर सरकार की फजीहत भले हो रही हो पर सरकार के स्थायित्व को लेकर कोई खतरा नहीं है। कांग्रेस में एक खेमा ममता की मांग को खारिज करने की सलाह भी दे रहा है। सपा की ओर से सरकार को समर्थन जारी रखने संबंधी बयान से उत्साहित इस खेमे का मानना है कि ममता यूपीए छोड़ती हैं तो उन्हें जाने देना चाहिए।

सपा को खुश रखने के कदम के तहत गुरुवार को अखिलेश यादव के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा को लखनऊ भेजा है। सरकार की ओर से इस समारोह में संसदीय कार्यमंत्री पवन बंसल भी मौजूद रहेंगे। गठबंधन सरकारों के युग में यह संभवत: पहला मौका है जब किसी क्षेत्रीय पार्टी ने सरकार के फैसले के लिए अपने ही मंत्री को कठघरे में खड़ा करने की कोशिश की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:त्रिवेदी पर चढ़ गई रेल